मानसिक तरावट के लिए सोशल मीडिया में सक्रिय कर्मी : रिपोर्ट


न्यूयॉर्वâ। काम से होने वाली मानसिक थकान को दूर भगाने के लिए आमतौर पर कर्मचारी पेâसबुक या सोशल मीडिया पर सक्रिय होते देखे जाते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक कर्मचारी काम के दौरान सोशल मीडिया का इस्तेमाल कई वजहों से करते हैं। इनमें से एक बड़ी और सबसे आम वजह यह होती है कि वे कुछ देर के लिए काम से ब्रेक लेते हुए खुद को रिप्रेâश करना चाहते हैं। प्यू रिसर्च सेंट द्वारा अमेरिका के २००३ वयस्कों पर किए गए शोध के मुताबिक इसमें शामिल करीब ३४ फीसदी लोगों ने कहा कि वे सोशल मीडिया का इस्तेमाल काम से होने वाली दिमागी थकान को दूर करने के लिए करते हैं। सर्वे के मुताबिक, सोशल नेटवा\कग डिजिटल प्लेटफॉर्म लोगों को काम की क्वालिटी सुधारने का मौका देते है साथ ही ये अपने साथी कर्मचारियों से बेहतर संबंध कायम रखते हुए अपनी वंâपनी के लिए और ज्यादा उपयोगी साबित हो सकते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि २७ फीसदी लोग काम के दौरान सोशल मीडिया का उपयोग दोस्तों और रिश्तेदारों से संपर्वâ के लिए करते हैं जबकि २४ फीसदी इसका उपयोग पेशेवर संपर्कों के लिए करते हैं। २० फीसदी लोग ऐसे हैं, जो सोशल मीडिया का उपयोग करते हुए जो सूचना हासिल करते हैं, वे काम के दौरान उनकी समस्याओं का हल निकालते हैं जबकि १७ फीसदी अपने सहर्किमयों के साथ बेहतर संबंध बनाए रखने के लिए इसका उपयोग करते हैं। युवा कर्मचारी सोशल मीडिया पर ऐसी जानकारियां हासिल करते हैं, जिनसे सहर्किमयों के साथ उनके रिश्ते बेहतर होते हैं या फिर उनके बारे में उनकी पूर्वनिर्धारित सोच में बदलाव आता है। ऐसे कर्मचारियों का प्रतिशत २३ है और इनकी उम्र १८ से २९ साल की है। कुल मिलाकर ६५ फीसदी लोगों का यह मानना है कि सोशल मीडिया के उपयोग से उनका काम बेहतर होता है क्योंकि इससे उन्हें नई जानकारियां मिलती हैं और सबसे अहम बात यह है कि वे अपनी मानसिक थकान को दूर करते हुए फिर काम में मन लगा सकते है। इनमें से १७ फीसदी कर्मचारी ऐसे भी हैं, जिनका मानना है कि वे काम से जुड़े मसलों के लिए शायद ही कभी इंटरनेट का उपयोग करते हैं और २५ फीसदी ऐसे भी हैं, जो कहते हैं कि वे इस कारण के लिए इंटरनेट का उपयोग कभी नहीं करते।