मछुआरों को अगवा कर रही श्रीलंका की नौसेना : जयललिता


चेन्नई। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने केन्द्र सरकार की तरफ से भारतीय मछुआरों की सुरक्षा के लिए की जा रही पहल की हवा निकाल दी है। जयललिता ने मछुआरों के मामले में केन्द्र से हस्तक्षेप करने की मांग की है। जयललिता ने श्रीलंका के नौसेना पर आरोप लगाया है कि वह भारतीय मछुआरों को अगवा कर ले जा रही है।
जानकारी के अनुसार जयललिता ने बताया है कि श्रीलंका की हिरासत से ७७ मछुआरों और १०२ नौकाएं मौजूद हैं। उन्होंने छुड़ाने के लिए प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप की मांग की है। जयललिता का आरोप है कि श्रीलंका की नौसेना की तरफ से की जा रही ऐसी घटनाओं में वृद्धि हो रही है। मुख्यमंत्री जयललिता ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बकायदा पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने कहा है कि श्रीलंका सरकार द्वारा पाक खाड़ी के परंपरागत जलक्षेत्र में मछली पकड़ने के हमारे मछुआरों के ऐतिहासिक अधिकारों का उल्लंघन जारी है। राज्य सरकार की तरफ से पत्र को सार्वजनिक भी किया गया है। पत्र में उन्होंने कहा है कि १५ जुलाई को रामनाथपुरम जिले के पामबन में मछली पकड़ने गए तमिलनाडु के चार मछुआरों को उनकी मोटरयुक्त नौकाओं के साथ श्रीलंका की नौसना ने अगवा कर लिया और अपने देश के तलाईमन्नार ले गए। मुख्यमंत्री ने कोलंबो पर मछली पकड़ने में प्रयुक्त नौकाओं को भी नहीं छोड़ने का आरोप लगाया और कहा कि इससे तमिलनाडु के मछुआरों में बहुत अधिक निराशा है। उन्होंने कहा, अपनी जीविका के बिना मछुआरे निराशा की ाqस्थति में हैं। जयललिता ने प्रधानमंत्री से इस मुद्दे को श्रीलंका में भारतीय उच्चायोग के माध्यम से श्रीलंका सरकार के शीर्ष अधिकारियों के समक्ष उठाने और ७७ मछुआरों तथा १०२ नौकाओं को तत्काल छुड़वाने का आग्रह किया।