मंगलयान की सफलता के बाद मानव मिशन शुरू करेगा इसरो


मुंबई। अभी हाल ही में इसरो के अध्यक्ष पद से सेवानिवृत्त हुए के राधाकृष्णन ने बताया कि मंगलयान की सफलता के बाद अंतरिक्ष एजेंसी स्पेस में मानव को भेजने के लिए तकनीक विकसित करने का काम कर रही है। राधाकृष्णन १०२ भारतीय विज्ञान सम्मेलन में बोलते हुए कहा कि अंतरिक्ष में मानव को भेजने के लिए समर्थ बनाने के लिए भारत में उपलब्ध तकनीक को कुछ कदम और आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। मार्स आर्बिटर द्वारा अच्छी गुणवत्ता के आंकड़ों भेजे जाने की पुष्टि करते हुए उन्होंने कहा कि मंगलयान मिशन के लिए विकसित की गई स्वचलित तकनीक का भविष्य में नौचालन तथा संचार उपग्रहों में भी किया जा सकेगा। राधाकृष्णन ने कहा कि जून २०१५ के एक पखवाड़े के दौरान आर्बिटर स्पेसक्राफ्ट जमीनी नियंत्रण से दूर होगा क्योंकि पृथ्वी और मंगल के बीच में सूर्य बाधा डालेगा उस समय अंतरिक्ष यान को स्वयं के मोड पर कार्य करना बहुत बड़ी चुनौती होगी।