भुजबल का ड्राइवर था डायरेक्टर


मुंबई । प्रवर्तन निदेशालय की जांच में भुजबल की वंâपनी में उसका ड्राइवर भी डायरेक्टर था। प्रवर्तन निदेशालय ने एनसीपी नेता छगन भुजबल की हिरासत लेने के लिए कोर्ट में यह खुलासा किया है कि कुछ वंâपनियों के निदेशक फर्जी है। ग्रोथ इंप्रâास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड और योजना इंप्रâास्ट्रक्चर नाम की दो वंâपनियां हैं, जिनमें निदेशक दिलीप नाईक है। दिलीप मुंबई एजुकेशनल ट्रस्ट में ड्र्राइवर है। एमईटी के संस्थापक निदेशक दगन भुजबल और उनके बेटे पंकज सचिव हैं और उनके भतीजे समीर कोषाध्यक्ष है। ईडी ने महाराष्ट्र सदन घोटाले में पहले समीर को गिरफ्तार किया था और उनके बाद सोमवार को छगन भुजबल को गिरफ्तार किया है। भुजबल के नियंत्रण वाली वंâपनियों और फर्जी निदेशकों की सूची कोर्ट में रिमांड के लिए ईडी ने दी है।