भारत पर्व महोत्सव में भी राजस्थान की धूम


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर पहली बार लाल किला परिसर में २६ से २९ जनवरी तक आयोजित किए जा रहे चार दिवसीय भारत पर्व महोत्सव में भी राजस्थान की धूम मची है। महोत्सव का उद्घाटन केंद्रीय पर्यटन सचिव विनोद जुत्शी ने किया। उद्घाटन समारोह में राजस्थान के लोक कलाकारों लंगा मांगणियार के वाद्यो, लोकगीतों एवं संगीत तथा चरी और घूमर नृत्यों ने दर्शकों का मनमोह लिया। इसी प्रकार राजस्थानी व्यंजनों दाल-बाटी चूरमा, अलवर के पेडे, नमकीन कचौड़ी आदि का रसास्वादन के लिए स्टॉल नम्बर-१५ पर भारी संख्या में लोग उमड़े। राजस्थान के शिल्प गुरू श्री तिलक गीतई की नाथद्वारा शैली की चित्राकारी और सुक्ष्म पेटिंग्स ने दर्शकों को प्रभावित किया। इस मौके पर पर्यटन सचिव ने बताया कि भारत पर्व आम लोगों के लिए जनवरी को दोपहर १२ बजे से रात नौ बजे तक खुला रहेगा। इसमें प्रवेश निःशुल्क है, लेकिन दर्शकों को अपना पहचान पत्र लेकर आना होगा। उन्होंने बताया कि इस बार गणतंत्रा दिवस समारोहों के तहत् २६ जनवरी से लाल किले में भारत के विभिन्न राज्यों की पाक कला और संस्कृति को प्रस्तुत करने वाले एक महोत्सव का आयोजन किया गया है। भारत पर्व महोत्सव का आयोजन २६ जनवरी से २९ जनवरी के बीच किया जाएगा। इस समारोह के आयोजन का मुख्य लक्ष्य देशभक्ति की भावना पैदा करना, देश की समृद्ध सांस्कृतिक विविधता को बढ़ावा देना और आम लोगों की अधिक भागीदारी को सुनिश्चित करना है। पर्यटन मंत्रालय को इस कार्यक्रम का नोडल मंत्रालय बनाया है।