भारतीय वायु सेना पोकरण में दिखाई अपनी ताकत


जैसलमेर । भारतीय वायु सेना १८ मार्च को अपनी ताकत की नुमाईश करेगी। इस अवसर पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत सेना के कई आला अधिकारी मौजूद होंगे। पोकरण एक बार फिर इंडियन एयरफोर्स के प्रस्तावित कार्यक्रम आयरन फिस्ट के माध्यम से गवाह बनेगा।
जानकारी के अनुसार इंडियन एयरफोर्स के पास मौजूद बेहतरीन फाइटर जेट्स की ताकत और उनकी क्षमताओं का आकलन किया जाएगा। इस कार्यक्रम के पहले दिन तीनों सेनाओं के सुप्रीम कमांडर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिरकत करेंगे। वाइस चीफ ऑफ एयर स्टाफ एयर मार्शल बीएस धनोआ ने इस कार्यक्रम के बारे में मीडिया को जानकारी दी है। उन्होंने बताया है कि इस कार्यक्रम में इंडियन एयरफोर्स के करीब १८१ एयरक्राफ्ट्स अपनी क्षमताओं और हवाई हमले की ताकत का नमूना पेश करेंगे। उन्होंने बताया कि यह एक्सरसाइज आईएएफ के लिए काफी मायने रखती है क्योंकि यह आज के दौर में इंडियन एयरफोर्स की मजबूत क्षमताओं का एक नमूना पेश करेगी। वर्ष २०१३ में जब आयरन फिस्ट का आयोजन हुआ था उस समय करीब २०० एयरक्राफ्ट्स ने हिस्सा लिया था। इस कार्यक्रम में तेजस के दो वैरियंट्स ने भी पहली बार अपना कौशल दुनिया को दिखाया था। अधिकारियों के मुताबिक यह एक्सरसाइज एयरफोर्स के कई पहलुओं को सामने लाएगी। इस बार इंडियन एयरफोर्स के गरुड़ कमांडो और स्पेशल हेलीबॉर्न ऑपरेशंस इस एक्सरसाइज का खास आकर्षण होंगे। तेजस के दो वैरियंट्स भी इस दौरान हिस्सा लेंगे जबकि एक वैरियंट को स्टैंडबाई मोड पर रखा गया है।