भारतीय जेलों में क्षमता से ज्यादा कैदी


नई दिल्ली। भारतीय जेलों में क्षमता से ज्यादा वैâदी हैं। गृह राज्यमंत्री हरिभाई पारथीभाई चौधरी ने लोकसभा में बताया कि २०१४ के अंत तक जेलों में कुल ४,१८,५३६ वैâदी थे। जबकि देश भर में जेलों की क्षमता ३,५६,५६१ वैâदी की है। उन्होंने कहा कि जेल प्रबंधन प्राथमिक तौर पर राज्यों का मामला है, लेकिन २००२ से २००९ के बीच वेंâद्र सरकार ने इस मद में राज्यों को सहयोग दिया है। राजस्थान में २०१३ से अब तक १२ लोगों को देश के खिलाफ जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। गृह राज्यमंत्री चौधरी ने बताया कि २०१३ में पांच, २०१५ में तीन और २०१६ में चार जासूसों को गिरफ्तार किया गया। इन पर विभिन्न देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने का आरोप है। देश में आqग्नशमन वेंâद्रों की संख्या जरूरत से ६५ फीसद कम है। गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में बताया कि यह २०११ में किए गए एक अध्ययन का अनुमान है। उन्होंने बताया कि वेंâद्र सरकार अपने स्तर पर आqग्नशमन वेंâद्रों, उपकरणों और कर्मचारियों का आंकड़ा नहीं रखती है। यह प्राथमिक स्तर पर नगर निकायों और राज्य सरकार की जिम्मेदारी है।