बैंककर्मियों की तत्परता से लुटेरों के हौसले पस्त


गुड़गांव। गुरुद्वारा रोड ाqस्थत आइसीआइसीआई बैंककर्मियों की साहसिक तत्परता से शाखा में लूटपाट करने आए हथियारबंद दो बदमाशों के हौसले पस्त हो गये। बदमाशों का सामना कर रहे दो बहादुर महिलार्किमयों व बैंक अधिकारी द्वारा शोर मचाने पर गोली मारने की धमकी देने वाले लुटेरों की बोलती बंद हो गई और वे असलहे बैंक के अंदर ही छोड़कर भाग लिए। पुलिस अब उनकी पहचान के लिए बैंक में लगे सीसीटीवी पुâटेज देख रही है।
शुक्रवार शाम करीब सवा पांच बजे दो युवक एक मोटरसाकिल से बैंक के पास पहुंचे। बैंक के बाहर ड्यूटी पर तैनात लाठीधारी गार्ड कोे देख दोनों युवक बैंक के अंदर चले गए। उस वक्त बैंक में वैâश का जोड़ घटाना चल रहा था, ग्राहक भी नहीं थे। बताते हैं कि एक बदमाश गेट के पास खड़ा हो गया, जबकि दूसरा महिला वैâशियर रितिका के काउंटर पर पहुंच गोली मार देने की धमकी के साथ समस्त वैâश देने को कहा।
महिला वैâशियर उसकी धमकी से नहीं डरी और उसने शोर मचा दिया। उसकी चीख सुन दूसरी महिला कर्मी व बैंक मैनेजर अपने केबिन से आ गए। उन्हें आते देख बदमाश का साथी भी गेट के पास से करीब आकर गोली मारने की धमकी दी। लेकिन कर्मचारियों पर कोई असर नहीं पड़ा वह दोनों को पकड़ने के लिए लपके। कर्मचारियों की बहादुरी देख बदमाश कांपने लगे और वह अपना हथियार छोड़कर चंपत हो गए।
इससे पहले बैंकर्किमयों ने सुरक्षा घंटी बजा दी थी। जिसके चलते बाहर से लोग ना आ जाए इस खौफ से बदमाश बैंक से निकले और बगल की गली से चंपत हो गए। एसीपी राजेश कुमार ने कहा बदमाशों की पहचान कर उन्हें पकड़ लिया जाएगा। मौके पर पहुंचे सिविल लाइन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर मुकेश को शक था कि बदमाश बैंक के बाहर ही अपनी मोटरसाइकिल छोड़कर भागे होंगे इसलिए आसपास खड़ी मोटरसाइकिलों के ऑनर की पहचान की गई।