बुंदेलखंड के दलितों को रिझाएगी कांग्रेस


लखनऊ। दलित वोट बैंक को फिर से जोड़ने की कोशिश में जुटी कांग्रेस अब बुंदेलखंड में अभियान शुरू करेगी। एक फरवरी से ’’भीम ज्योति यात्रा’’ का दूसरा चरण कानपुर के अलावा अन्य जिलों में चलेगा और दलितों को गुमराह करने वालों से सावधान किया जाएगा। अनुसूचित जाति व जनजाति विभाग के चेयरमैन व पूर्व विधायक भगवती चौधरी ने बताया कि दूसरे चरण की यात्रा को प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री एक फरवरी को कांग्रेस मुख्यालय से रवाना करेंगे। बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की १२५ वीं जयंती वर्ष में देशभर में निकाली जा रही भीम ज्योति यात्रा का पहला चरण गत आठ िंसतबर को पूरा हुआ। पूर्वांचल के विभिन्न जिलों में यात्रा को अभूतपूर्व जन समर्थन मिला था। अब दूसरे चरण की यात्रा का समापन आठ फरवरी को लखनऊ में होगा। यात्रा का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के लोगों को गुमराह करने वाले दलों से सचेत कर कांग्रेस पार्टी से जोड़ना है।
राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष पीएल पुनिया का दावा है कि दलित वोट पर सियासत करने वाली क्षेत्रीय र्पािटयों से दलितों का मोहभंग होने लगा है। यात्रा से बदलाव की उम्मीद जगी है। विभिन्न दलित बाqस्तयों से गुजरने के साथ यात्रा में यूपीए सरकार के शासनकाल में दलित हित में लिए गए पैâसलों को प्रचारित किया जाएगा। सपा व बसपा के अलावा भाजपा की दलित विरोधी नीतियों को उजागर करेंगे। यात्रा के दौरान पूरे प्रदेश में करीब ४०० दलित नेताओं को चिाqन्हत किया जाएगा ताकि उनका चुनावों में बेहतर इस्तेमाल हो सके। चयनित नेताओं को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा। कांग्रेस ने आरक्षित सीटों को वेंâद्रित कर कार्ययोजना तैयार करने का पैâसला लिया है।