बिहार में शराबबंदी से अपराध में कमी


पटना। बिहार में एक अप्रैल से शराबबंदी लागू होने के बाद पटना प्रमंडल के छह जिलों में संगीन अपराधों में २७ फीसदी की कमी आई है. इतना ही नहीं शराबबंदी के बाद सड़क हादसों की संख्या में भी कमी दर्ज की गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरफ से पटना प्रमंडल के छह जिलों पटना, नालंदा, भोजपुर, रोहतास, बक्सर और वैâमूर में शराबबंदी, पेयजल और आqग्नकांडों की ाqस्थति, लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम की तैयारी और `सात निश्चय’ के कार्यक्रमों की समीक्षा की गई. समीक्षा के क्रम में आयुक्त आनंद किशोर ने बताया, `पटना प्रमंडल के अंतर्गत सभी छ: जिलों में साल २०१५ में एक अप्रैल से २३ अप्रैल के दौरान सभी प्रकार के कुल संगीन अपराधों की संख्या ३,१७८ थी, वहीं इस साल शराबबंदी लागू होने के बाद इसी अवधि में कुल अपराधों की संख्या घटकर २,३२८ रह गई है। उन्होंने आगे कहा कि इस प्रकार शराबबंदी के कारण महत्वपूर्ण संज्ञेय अपराधों में २७ प्रतिशत से भी अधिक की कमी आयी है। इसके अलावे विधि व्यवस्था की ाqस्थति में भी काफी सुधार हुआ है और सार्वजनिक जूलुसों एवं र्धािमक जूलुसों के अवसर पर तनाव और झगड़े की घटनाओं में काफी कमी आयी है।’ समीक्षा के क्रम में यह भी पाया गया कि एक अप्रैल, २०१६ से शराबबंदी लागू किए जाने के बाद से पटना प्रमंडल के सभी जिलों में सड़क दुर्घटना की संख्या में काफी कमी आई है। मुख्यमंत्री ने पूरी सख्ती से शराबबंदी को लागू करने का निर्देश देते हुए विशेष रूप से सीमावर्ती जिलों में सघन पेट्रोिंलग करने और अवैध शराब के संबंध में नियमित रूप से जांच अभियान संचालित करने का निर्देश दिया है।