बम-बम भोले की आवाज से गूंजे शिवालय


आज सावन का पहला सोमवार
नई दिल्ली। आज पवित्र सावन महीने का पहला सोमवार है, देश भर में भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए इस समय श्रद्दालुओं की भारी भीड़ मंदिरों में एकत्र हो रही हैं। शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ हैं। भोले बाबा की विशेष पूजा अर्चना हो रही है। आज का दिन इसलिए खास है क्योंकि आज सावन का पहला सोमवार है। इस बार सावन महीने में चार सोमवार पड़ रहे हैं। पहला आज है तो दूसरा १ अगस्त, तीसरा ८ अगस्त और चौथा सोमवार १५ अगस्त को पड़ेगा और इन चारों दिन कई शुभ योग भी बन रहे हैं। सावन के सोमवार में श्रद्धालु भगवान शिव का आशीर्वाद पाने के लिए उनका पंचामृत यानी जल, दूध, दही, घी और शहद से अभिषेक करते हैं। पूâल, बेलपत्र और धतूरा भी चढ़ाते हैं। सावन के सोमवार में व्रत की भी परंपरा है।
िंहदू धर्म में मान्यता है कि भोले बाबा को सावन यानी श्रावण का महीना बेहद प्रिय है। इस दौरान वो अपनी पूजा और व्रत रखने वाले भक्तों पर विशेष कृपा करते हैं। शास्त्रों के मुताबिक श्रावण माह शुरू होने से पहले ही देवशयनी एकादशी को भगवान विष्णु चार महीने के लिए योगनिद्रा में चले जाते है। इसे चातुर्मास कहा जाता है और इन चार महीनों तक भगवान शिव ही पूरी सृाqष्ट को चलाते हैं। दिल्ली, वाराणसी, बिहार, झारखंड, मध्यप्रदेश हर जगह लोग हाथों में जल लिए भगवान शिव को चढ़ाने के लिए लंबी कतारों में इंतजार कर रहे हैं। वाराणसी, इलाहाबाद, झांसी, कानपुर, लखनऊ, मेरठ सहित कई शहरों में सुबह से ही लोग शिव मंदिरों के बाहर लम्बी कतारों में लगे हुए हैं। मंदिरों में भजन-कीर्तन और पूजा-अर्चना भी शुरू हो गई है। इस मौके पर आने वाले श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या के मद्देनजर मंदिरों में व्यापक तैयारियां की गई हैं। पुलिस के अनुसार, सावन में मंदिरों में उमड़ने वाली भीड़ के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कि गए हैं। बनारस में काशी विश्वनाथ मंदिर, इलाहाबाद में मन कामेश्वर मंदिर के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। पाqश्चमी उप्र के कुछ संवदेनशील जिलों में पीएसी की कम्पनियां तैनात हैं।

महाकाल की हुई ‘भस्म आरती’
वाराणसी में काशी विश्वनाथ हो या फिर उज्जैन के महाकाल या फिर हों देवघर के भोले बाबा। सभी जगहों पर भक्तों की लंबी कतारें लगी हैं। इसके साथ ही हर शहर में शिवालयों पर भी भक्त उमड़े हैं। मध्यप्रदेश के उज्जैन में पूरे विधि विधान से महाकाल की भस्म आरती हुई। फिर पंचामृत से उनका अभिषेक किया गया। उत्तरप्रदेश के वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा के लिए भक्त उमड़े हुए हैं। दिल्ली के पास गाजियाबाद के दुधेश्वर मंदिर में भी पूजा अर्चना का दौर चल रहा है। इसके साथ ही झारखंड के देवघर में बाबा वैद्यनाथ धाम में भी भक्तों का सैलाब उमड़ा हुआ है। भोले बाबा के दर्शनों के लिए देर रात से ही देश भर के शिव मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ है। भगवान शिव की विशेष पूजा अर्चना हो रही है। लोग शिव भक्ति में डूबे दिख रहे हैं।