प्रधानमंत्री कार्यालय में स्वच्छता अभियान


हटी १० हजार फाइलें
नई दिल्ली। केवल १५ दिन के अंदर प्रधानमंत्री कार्यालय ने सफाई अभियान चलाकर १० हजार से ज्यादा फाइलों को कार्यालय से हटाया गया और महत्वपूर्ण पुरातााqत्वक महत्व वाली १००० फाइलों को नेशनल आर्काइव ऑफ इंडिया में स्थानांतरित कर दिया गया है। मई २०१४ में जब से मोदी ने प्रधानमंत्री का पद संभाला तब से एक लाख से ज्यादा फाइलों को निपटा दिया गया। परिणाम स्वस्प फाइलों के हटने से दो रिकॉर्ड रूम्स खाली हो गए है और यह वैकाqल्पक उपयोग के लिए उपलब्ध हो गए है। प्रधानमंत्री कार्यालय के कर्मचारियों की ओर से चलाए गए इस सफाई अभियान के तहत कचरे को हटाया गया तथा बेकार सामाग्रियों को खत्म किया गया। एक शीर्ष अधिकारी का कहना है ‘ इन प्रयासों ने साउथ ब्लॉक में प्रधानमंत्री कार्यालय परिसर के अंदर १८०० वर्ग पुâट का ऑफिस स्पेस मिला है। यह स्पेस अब प्रधानमंत्री कार्यालय के पाqब्लक िंवग के करीब ५० अधिकारियों को यहां शामिल कर सकती हैं जो कि साउथ ब्लॉक में जगह की कमी के चलते रेल भवन से काम कर रहे थे।’ इस सफाई अभियान के तहत रायसीना हिल के ऊपर प्रधानमंत्री कार्यालय से १२ ट्रक भरकर कचरा हटाया गया। प्रधानमंत्री कार्यालय के स्टाफ को प्रधानमंत्री के प्रधान सिचव नृपेंद्र मिश्रा के नेतृत्व में स्वयंसेवकों के रूप में काम करने को कहा गया। प्रधानमंत्री कार्यालय के सूत्रों का कहना है कि कार्यालय में मई २०१४ के बाद कई बदलाव हुए हैं। इसमें उत्पादकता बढ़ाने और साफ-सफाई संबंधित पहल शामिल हैं। इलेक्ट्रॉनिक मेल मैनेजमेंट सिस्टम लागू किया गया जिसने सार्वजनिक याचिकाओं पर कार्रवाई करने का समय एक महीने से एक दिन हो गया।