नीति आयोग के पहले उपाध्यक्ष पनगडिया ने कार्यभार संभाला


नईदिल्ली। मशहूर अर्थशास्त्री अरिंवद पानगडिया ने योजना आयोग को नया रूप देकर नीति आयोग बनाने के बाद आयोग के पहले उपाध्यक्ष पद का कार्यभार मंगलवार को संभाल लिया है। इसके अलावा अर्थशास्त्री बिबेक देबरॉय और डीआरडीओ के पूर्व प्रमुख वीके सारस्वत को बतौर सदस्य नियुक्त किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाले नीति आयोग में ४ वेंâद्रीय मंत्रियों को पूर्णकालिक सदस्य बनाया गया है।
आयोग में छह सदस्य और तीन विशेष आमंत्रित सदस्य शामिल किए गए हैं। आयोग के पूर्णकालिक सदस्यों में वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृह मंत्री राजनाथ िंसह, कृषि मंत्री राधामोहन िंसह और रेल मंत्री सुरेश प्रभु शामिल हैं। इसके साथ ही तीन वेंâद्रीय मंत्रियों- मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी, सड़क परिवहन और राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत को विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया है।
० कौन है अर्थशास्त्री अरिंवद
प्रख्यात अर्थशास्त्री अरिंवद पनगढ़िया इससे पहले न्यूयॉर्वâ कोलंबिया विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोपेâसर थे। एशियाई विकास बैंक के पूर्व मुख्य अर्थशास्त्री श्री पनगढ़िया ने अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष, विश्व व्यापार संगठन और विश्व बैंक के साथ काम किया है। उन्होंने लगभग दस पुस्तवेंâ लिखी हैं और २००८ में प्रकाशित उनकी नवीनतम पुस्तक का नाम था ‘इंडिया द इमा\जग जाइंट’ । मालूम हो कि ३० सितंबर १९५२ को जन्मे श्री पनगढ़िया नीति आयोग- राष्ट्रीय भारत परिवर्तन संस्थान के पहले उपाध्यक्ष हैं। सरकार द्वारा िंथक टैंक और नीति निर्माण मंच के एक समान रूप से कार्य करने के लिए योजना आयोग की जगह नीति आयोग स्थापित किया है।