निचली अदालतों में दो करोड़ से अधिक मुकदमे लंबित


नई दिल्ली । कानून मंत्रालय के अनुसार, देश की निचली अदालतों में इस समय दो करोड़ से अधिक मुकदमे लंबित हैं। राष्ट्रीय न्यायिक डाटा ग्रिड पर ३१ दिसंबर, २०१५ को उपलब्ध आंकड़ों से पता चलता है कि सभी राज्यों की जिला अदालतों में कुल मिलाकर २,००,६०,९९८ मामले लंबित हैं। इनमें २१,७२,४११ मुकदमे १० वर्षों से अधिक समय से अटके हुए हैं। इस मसले पर विचार करने के लिए कानून मंत्रालय अगले सप्ताह एक उच्च स्तरीय बैठक आयोजित करने जा रहा है। इस बैठक का विषय है ’’न्याय व्यवस्था और कानून सुधार’’। हालांकि, इस बैठक के लिए तैयार किए गए नोट में बताया गया है कि यह आंकड़ा देश के सभी अदालतों में लंबित मुकदमों की जानकारी नहीं देता है। दरअसल, कानून मंत्रालय समय-समय पर सुप्रीम कोर्ट और २४ हाई कोर्टों से इस मुद्दे पर जानकारी मांगता रहता है। कानून मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने पिछले दिसंबर में लोकसभा को बताया था कि निचली अदालतों ने २०१४ में १,९०,१९,६५८ मुकदमों का निस्तारण किया था।