नकली दवाओं की जांच करने देशव्यापी सर्वे शुरू करेगी सरकार


नई दिल्ली। वेंâद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय बाजार में बेची जा रही दवाओं की गुण्वत्ता की जांच के लिए पैन इंडिया सर्वे शुरू करने जा रहा है। सर्वे में नकली दवाओं की बिक्री की खुलासा किया जा सकेगा। सर्वेक्षण के हिस्से के रूप में वेंâद्रीय दवा निरीक्षक एण्टीबायोटिक्स, हृदय संबंधी दवा, एण्टी हिस्टामाइंस एवं एस्टेरोइडस समेत कम से कम १५ विभिन्न श्रेणियों की ४७००० दवाओं के नमूने प्राप्त करेंगे। एक अधिकारी ने बताया कि दवाओं के नमूने अस्पतालों, खुदरा दवाई की दुकानों एवं यहां तक कि सरकारी स्वास्थ्य संस्थाओं तथा देशभर की डिस्पेंसरियों से दवाओं के नमूने लेकर उनकी गुणवत्ता जांची जाएगी। सरकार द्वारा इस तरह के सर्वे इससे पहले २००८-०९ में लांच किए गये थे। वर्ष २००८-०९ में लांच किए गये थे। वर्ष २००८-०९ में सरकार द्वारा संग्रहित दवाओं के २७००० नमूनों में से बाजार में ०.०४६ फीसदी दवाएं नकली पायी गई थी।