देश की आधी से अधिक आबादी गंगा पर निर्भर : उमा


० गंगा मंत्रालय की उपलाqब्ध पुाqस्तका और पॉकेट पुस्तक जारी
नईदिल्ली । केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा पुनर्रोद्धार मंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि नदियों को आपस में जोड़ने से देश में आंतरिक जल मार्गों को विकसित करने में सहायता मिलेगी।
सुश्री उमा भारती ने जल संसाधन, नदी विकास और गंगा पुनर्रोद्धार मंत्रालय की उपलाqब्ध पुाqस्तका और पॉकेट पुस्तक जारी करते हुए आज कहा कि बहुत से लोग देश में नदियों को आपस में जोड़ने के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि देश की आधी से ज्यादा जनसंख्या अपनी आजीविका के लिए गंगा पर निर्भर है और यदि हम गंगा को स्वच्छ करने में सफल रहे तो इससे हमारी अर्थव्यवस्था में शानदार वृद्धि होगी। समाज का हर वर्ग इस व्यापक कार्य में शामिल होना चाहता है। सरकार गंगा को एक बार स्वच्छ कर सकती है लेकिन यह लोगों का दायित्व होगा कि वे इसे आने वाले वर्षों में भी स्वच्छ रखें।
इससे पहले पूर्व मंत्रालय के सचिव ए. के. विश्नोई ने पिछले एक वर्ष के दौरान उठाए गए मंत्रालय के विभिन्न कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पिछले एक वर्ष के दौरान गोदावरी और कृष्णा नदी प्रबंधन बोर्ड का गठन, नदियों को आपस में जोड़ने पर विशेष समिति का गठन, केनद्रीय जल आयोग का बाढ़ पूर्व सूचना और देश में छोटी िंसचाई परियोजनाओं की पांचवी गणना का शुभारंभ मंत्रालय की कुछ महत्वपूर्ण पहले हैं।