तेंदुओं की दहशत के चलते 135 स्कूल बंद


रहवासियों को घरों में बंद रहने की नसीहत
बंगलुरु। कहते हैं कि जब घर और स्वूâल जंगलों में बनाए जाएंगे तो जंगली जानवर भी वहां होंगे ही। यह नजारा पूर्वी बंगलुरु के नजदीक एक प्राइवेट स्वूâल से एक तेंदुआ पकड़े जाने के समय देखने को मिला। इसके बाद बुधवार को दो और तेंदुए देखे गए, जिसके चलते बंगलुरु में गुरुवार को १३४ स्वूâलों को बंद कर दिया गया। प्राप्त जानकारी अनुसार तेंदुए के आतंक के चलते प्रशासन ने बुधवार को ही ६० स्वूâलों को बंद करने की घोषणा करते हुए रिहायशी लोगों को अपने घरों में बंद रहने की सलाह दी थी। यही नहीं अनेक रूट डाइवर्ट भी किए गए हैं। तेंदुए को पकड़ने के लिए पुलिस और वन विभाग मिलकर अभियान चला रहे हैं। विबज्योर स्वूâल के पास ाqस्थत अपार्टमेंट के बाहर दो तेंदुए देखे जाने के बाद शहर में दहशत का माहौल है। तेंदुए को पकड़ने की मशक्कत कर रहे वन अधिकारी ने बताया कि ‘मंगलवार को रात भर तेंदुए को पकड़ने के लिए अभियान चलाया गया। तेंदुए को पकड़ने के लिए अधिकारी अभियान तब तक जारी रखेंगे जब तक तेंदुए पकड़े नहीं जाते। वन अधिकारी, स्थानीय पुलिस, एंबुलेंस र्सिवस को अलर्ट पर रखा गया है।’ गौरतलब है कि सात फरवरी को बंगलुरु के विबज्योर स्वूâल में रविवार सुबह घुस आए एक तेंदुए ने दो वनकर्मियों को घायल कर दिया था, लेकिन काफी मेहनत के बाद वन विभाग के अधिकारियों ने उसे पकड़ने में सफलता हासिल कर ली थी। दिनभर इस तेंदुए ने पूरे स्वूâल परिसर में जमकर आतंक मचाया था। हालांकि छुट्टी की वजह से बच्चे स्वूâल में नहीं थे, लेकिन इसने ६ अन्य लोगों को घायल कर दिया था।