ढाई लाख वेतन चाहिए जम्मू कश्मीर के विधायकों को


जम्मू । जम्मू कश्मीर विधानसभा २९ मार्च २०११ को पहले ही यह साबित कर चुकी है कि वेतन के मामले में जम्मू कश्मीर के एमएलए भारतीय सांसदों से हमेशा आगे थे और रहेंगें। अब वे एक बार फिर इसे दोहराना चाहते हैं। वे अपने वेतन को दोगुना नहीं बाqल्क तिगुना बढ़ाना चाहते हैं। अर्थात सांसदों के वेतन से पांच गुणा अधिक।
अभी जम्मू कश्मीर के विधायकों को ८० हजार के लगभग वेतन मिल रहे हैं जिसे बढ़ाकर वे ढ़ाई लाख करना चाहते हैं। इसके लिए राजनीतिक मतभिन्नता को भुलाकर माननीयों ने अपने वेतन में तीन गुणा की बढ़ोतरी मांगी है। दोनों सदनों में माननीयों ने वेतन सहित निर्वाचन क्षेत्र विकास निधि में भारी भरकम बढ़ोतरी पर सहमति के स्वर उठाए। विधानसभा में विपक्ष और सत्तापक्ष से कुल ५४ विधायकों ने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन पीठासीन अध्यक्ष को सौंपा। इसमें गठबंधन सरकार के २५ मंत्री शामिल नहीं हैं।
अध्यक्ष ने इस मामले में सरकार को ध्यान देने के निर्देश दिए। सदन में वीरवार को भाजपा विधायक सतपाल शर्मा ने ध्यान दिलाया कि विधायक निधि की राशि १.५ करोड़ रुपए सालाना काफी कम है। इससे विधानसभा में विकास के कार्य नहीं हो पाते हैं। कई इलाकों के साथ न्याय नहीं हो पाता है। ऐसे में क्षेत्र में जनता के सामने ाqस्थति काफी विकट बन जाती है। इसके साथ ही सदस्यों ने विधायकों का वेतन बढ़ाने की वकालत की।