ट्रेन में बम, रेलमंत्री प्रभु के नाम धमकी भरा खत में मांगे 10 करोड़


नई दिल्ली । वाराणसी से मुंबई सीएसटी तक जाने वाली १०९४ अप महानगरी एक्सप्रेस में पुलिस को एक बम मिला। एक यात्री की सूझबूझ से इसे समय रहते नष्ट कर दिया गया। इसके साथ ही पुलिस को एक खत भी मिला जिसमें रेल मंत्री से १० करोड़ रु की मांग की है। वाराणसी से मुंबई को जाने वाली १०९४ महानगरी एक्सप्रेस के जो प्रतिदिन चित्रकूट के मानिकपुर स्टेशन से ५.०० बजे होकर गुजरती है। आज ट्रेन जैसे ही एक नंबर प्लेटफॉर्म पर खड़ी हुई तो एस-३ बोगी के एक यात्री अशोक ने ट्रेन के गार्ड बहादुर को जानकारी दी कि कोच के बाथरूम में झोले में कुछ संदिग्ध चीज रखी हुई है।
सूचना पर जब आरपीएफ और जीआरपी को दी दोनों थानों की फोर्स ने ट्रेन में रखे झोले को बाहर निकाल कर देखा तो बम देखने में बम जैसा प्रतीत हो रहा है जिसमे सात रंग की पाइप और एक घड़ी लगी थी।
– ट्र्रेन की सघन जांच
थाना प्रभारी ने जिले के बम निरोधक दस्ते को बुलाया और ट्रेन की सघन तलाशी की गई। बम निरोधक दस्ते ने जांच के बाद साफ किया कि यह टाइम बम है। काफी मशक्कत के बाद यह निर्णय लिया कि बम को ब्लास्ट कर डिफ्यूज किया जाए। ब्लास्ट से बम को नष्ट कर दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि बम में आईडी का इस्तेमाल किया गया था। सुरक्षा एजेंसियों को जांच के बाद ट्रेन से एक खत मिला। हालांकि खत लिखने वाले का मकसद साफ नहीं हो सका है। इस शख्स ने खत में रेल मंत्री से १० करोड़ रुपए की मांग की है। खत में लिखा गया है कि रेल हादसों में मरने वालों के लिए कुछ नहीं किया जाता।