जेएनयू की आग बुझाने शबाना ने किया आग्रह


लखनऊ। ‘प्यार का जश्न इस तरह मनाना होगा, गम किसी के सीने में हो उसको मिटाना होगा’ यह शायरी जेएनयू विवाद में सौहाद्र्र निर्मित करने के लिए सिने तारिका व पूर्व सांसद शबाना आजमी ने कहा । उन्होंने कहा कि जेएनयू की आग को बुझाने का काम हम सबको करना चाहिए। विवाद के बारे मे उन्होंने कहा कि ऐसा नही है कि यह सब अचानक हो गया बल्कि इस पर निगाह पहले से ही रखी गयी थी। अपने गृह जिला आजमगढ़ के बनकट बाजार मे ाqस्थत एक निजी स्वूâल के वर्षगांठ के अवसर पर मुख्य अतिथि सिने तारिका शबाना आजमी ने कहा कि इस तरह के स्वूâलो की जिले में काफी जरूरत है। स्वूâल में जिस प्रकार से भारतीय संस्कृति और सभ्यता की झलक देखने को मिली है वह काफी सराहनीय है। स्वूâल को अपनी नाम की तरह अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर काम करना चाहिये।