जीका वायरस का वेक्सीन हैदराबाद में तैयार


नई दिल्ली। अमेरिका में जीका वायरस का पहला मामला आया सामने, हैदराबादी वंâपनी का दावा, वैक्सीन तैयार अमेरिका में जीका का पहला मामला सामने आया है। अमेरिका के टेक्सास में जीका वायरस से पीड़ित एक मरीज मिला है। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसारपीड़ित शारीरिक संबंधों की वजह से वायरस की चपेट में आया। स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, पीड़ित वेनेजुएला से लौटे व्यक्ति के संपर्वâ में आया था।
वह जीका वायरस के खिलाफ भारत में एक वैक्सीन तैयार कर लेने का दावा किया गया है।

लिया गया है। वल्र्ड हेल्थ ऑर्गेनाइ़जेशन ने जीका वायरस इंपेâक्शन के चलते दुनियाभर में इसके लिए वैक्सीन की खोज हो रही है। हैदराबाद की बायोटेक वंâपनी ने जीका वायरस के खिलाफ एक वैक्सीन बनाने का दावा किया है। जबकि दूसरी बड़ी वंâपनियां अभी रिसर्च का शुरू कर रही हैं। हैदराबाद के डॉक्टरों ने दुनिया की पहली ऐसी वैक्सीन तैयार की है, जो ़जीका वायरस के खिलाफ लड़ेगी। असल में उन्होंने ऐसी दो वैक्सीन तैयार करने का दावा किया है।
़जीका वायरस को बाहर से मंगाकर हैदराबाद की इस जानी-मानी वंâपनी ने दो वैक्सीन तैयार कर उसका किसी जानवर या इंसान पर ट्रायल करने पर लंबा वक्त ले सकता है। वंâपनी के प्रमुख कृष्णा इला भारतीय सरकार का
सब कुछ ठीक रहा तो वंâपनी चार महीने में वैक्सीन के १० लाख डोज तैयार करने का दावा कर रही है। १० करोड़ डॉलर की इस वंâपनी के प्रमुख कृष्णा इला का कहना है कि भारत को इसका उपयोग उन देशों की मदद में करना चाहिए, जिन्हें इस वैक्सीन की सख्त ़जरूरत है । इसके लिए वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रत्यक्ष दखल चाहते हैं।