चार सौ रेलवे स्टेशनों पर आरक्षण चार्ट की जगह लगेंगे प्लाज्मा स्क्रीन्स


नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय रेलवे ने ए, ए-वन और बी श्रेणी के रेलवे स्टेशनों से रवाना होने वाली रेलगाड़ियों के डिब्बों पर आरक्षण चार्ट नहीं चिपकाने का निर्णय लिया है। इसकी जगह प्लाज्मा स्क्रीन पर रिजर्वेशन चार्ट उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें यात्री अपना नाम और सीट क्रमांक देख सकेंगे। यह व्यवस्था एक मार्च से शुरू लागू होगी। रेलवे के अनुसार इन तीन श्रेणियों के कुल स्टेशनों की संख्या लगभग 400 है। इनमें दिल्ली के आधा दर्जन से ज्यादा रेलवे स्टेशन शामिल हैं। रेलवे का कहना है कि इससे पहले रेलवे ने इस तरह का प्रयोग नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और हजरत निजामुद्दीन समेत देश के अलग-अलग शहरों के छह स्टेशनों पर किया था।
इस प्रयोग के बाद रेलवे ने तय किया अब लगभग 400 और स्टेशनों पर भी चार्ट चिपकाने का कार्य बंद किया जाएगा। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि इस प्रक्रिया का फायदा यह होगा कि इससे कागज तो बचेगा ही, साथ ही कोच भी गंदे नहीं होंगे। इसकी जगह स्टेशनों पर अत्याधुनिक प्लाज्मा स्क्रीन लगाई जाएंगी। जिसपर यात्रियों के कोच और सीट नंबर आते रहेंगे। इस तरह से यात्रियों को अपनी सीट नंबर देखने में आसानी होगी।
इसके अलावा एक और बड़ी समस्या से छुटकारा मिलेगा कि कई बार स्टेशन पर यात्री चार्ट को ही फाड़ देते हैं। जिससे दूसरे यात्रियों के लिए अपनी सीट नंबर देखना मुश्किल हो जाता है। स्क्रीन पर ऐसी किसी तरह की समस्या नहीं होगी। रेलवे ने जिन तीन कैटेगरी के स्टेशनों पर चार्ट लगाना बंद करने का फैसला किया है। उनमें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन और हजरत निजामुद्दीन के अलावा पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, आनंद विहार, आदर्श नगर, शाहदरा और दिल्ली छावनी रेलवे स्टेशन भी शामिल हैं।