केरल चुनाव में हवाला कारोबार के संकेत


तिरुवनन्तपुरम। केरल में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने है। उससे पहले पुलिस और आयकर अफसरों ने १८.५ करोड़ रुपये जब्त कर लिए है। इन जब्त रकम में हवाला कारोबारियों के भी शामिल होने की संभावनाएं जांच एजेसियां टटोल रही है।
जानकारी के अनुसार बेहिसाब पैसा रखने के आरोप में ३२ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। केरल विधानसभा की १४० सीटों के लिए में १६ मई को चुनाव होना है। चुनाव की घोषणा मार्च के प्रथम सप्ताह में हुई थी। पुलिस ने कहा कि बेहिसाबी पैसों के सूत्र मध्य पूर्व से जुड़े हो सकते हैं। मामले की जांच कर रहे पुलिस उप-महानिरीक्षक पी.विजयन ने कहा, हम स्रोत ढूंढ़ने में लगे हुए हैं। हमें संदेह है कि यह मध्य पूर्व से और पड़ोसी राज्यों से भी आया होगा। उन्होंने कहा, हमारी जांच के दौरान जो लोग पैसों के बारे में संतोषजनक स्पष्टीकरण देंगे, उन्हें पैसे लौटा दिए जाएंगे। केवल उन्हीं लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी, जो विवरण नहीं दे पाएंगे। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि पिछले कुछ वर्षो के दौरान हवाला से आने वाले पैसों का सबसे बड़ा स्रोत मध्य पूर्व रहा है, और जो लोग इस माध्यम से अपने पैसे भेजते हैं, उनके एजेंट केरल और मध्य पूर्व दोनों जगह हैं। उल्लेखनीय है कि सोमवार को अधिकारियों ने त्रिशूर के पास दो वाहनों से २.७५ करोड़ रुपये जब्त किए और वाहनों में बैठे लोगों को हिरासत में ले लिया। विजयन ने कहा कि पैसे की अधिकांश बरामदगी मलप्पुरम और पलक्कड़ में हुई है, लेकिन ऐसे पैसों की बरामदगी अन्य जिलों में भी हुई है। मुख्यमंत्री ओमन चांडी कासरकोड में चुनाव प्रचार कर रहे थे। उनसे जब इस तरह के पैसों की जब्ती के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि वह तथ्यों को जानने के बाद ही इस बारे में कोई टिप्पणी करेंगे। चुनाव प्रचार जल्द ही अपने चरम पर पहुंचने वाला है, और ऐसे में पुलिस को संदेह है कि जब्त अधिकांश धनराशि चुनाव के लिए ही आया होगा।