केन्द्र में 65 तो बिहार में अब 70 की उम्र तक डॉक्टरों को सेवा का मौका


पटना। बिहार के डॉक्टरों को अब ७० की उम्र तक सेवा करने का मौका मिलेगा। यह अवसर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) की तरफ से जारी गाइड लाइन से संभव होगा। ताजा पैâसले से बिहार के २०० डॉक्टरों को इसका फायदा मिलेगा।
जानकारी के अनुसार बिहार में चिकित्सकों की सेवानिवृत्ति की आयु ६७ साल है। बिहार में लगभग छह हजार डॉक्टर सरकारी सेवा में तैनात हैं। इसमें आठ सौ विभिन्न विभागों में विशेषज्ञ हैं। इनमें से २० प्रतिशत ऐसे हैं, जो जुलाई २०१७ के बाद सेवानिवृत्त होंगे। इससे पहले जुलाई २०१५ में सरकार ने डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की उम्र सीमा ६५ से ६७ वर्ष कर दी थी, जिससे लगभग ६० डॉक्टरों की सेवा में रह गए। २०१७ में जो प्रमुख डॉक्टर सेवानिवृत्त होने वाले हैं। आईएमए के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. साqच्चदानंद कुमार का कहना है कि राज्य हित में चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर करने के लिए उम्र सीमा बढ़ाने की जरूरत है रिक्त पद जरूर भरें। डॉक्टरों को पदोन्नति देकर विभिन्न खाली पदों को भी भरें,तभी व्यवस्था सुधरेगी। नए मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की गई है, लेकिन बेतिया और पावापुरी मेडिकल कॉलेज में अभी भी डॉक्टरों की कमी है। ऐसे में उम्र सीमा बढ़ाने से ऐसे कॉलेजों को लाभ मिल सकता है।