केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल जल्द


नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल में जल्द फेरबदल हो सकता है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को इसके संकेत दिए। हालांकि उन्होंने इसकी कोई निश्चित तारीख नहीं बताई।

15 जून के बाद बदलाव : सूत्रों का कहना है कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ बैठक की थी। मंत्रिमंडल में फेरबदल 15 जून हो सकता है। अभी देशभर में सरकार की उपलब्धियां गिनाने का काम हो रहा है। इसके केंद्रीय मंत्रिमंडल में जल्द फेरबदल हो सकता है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को इसके संकेत दिए। हालांकि उन्होंने इसकी कोई निश्चित तारीख नहीं बताई।

15 जून के बाद बदलाव : सूत्रों का कहना है कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ बैठक की थी। मंत्रिमंडल में फेरबदल 15 जून हो सकता है। अभी देशभर में सरकार की उपलब्धियां गिनाने का काम हो रहा है। इसके बाद पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 12-13 जून को होगी। फेरबदल में मंत्रियों के दो साल के कामकाज को ध्यान में रखा जाएगा।

कई हटाए जाएंगे: सूत्रों का कहना है कि मंत्रिमंडल से दो कैबिनेट मंत्रियों के साथ आधा दर्जन से ज्यादा मंत्री हटाए जा सकते हैं। इसके अलावा कई के विभाग भी बदले जा सकते हैं। बिहार कोटे के मंत्रियों में बदलाव हो सकता है। कुछ को पार्टी संगठन में भेजा जा सकता है।

यूपी से मंत्री बढ़ सकते हैं
सूत्रों के अनुसार, अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश से मंत्रियों की संख्या बढ़ सकती है। अपना दल की अनुप्रिया पटेल का नाम भी चर्चा में है।
सहयोगी भी बढ़ेंगे: फेरबदल में सहयोगी दलों शिवसेना व तेलुगुदेशम से एक-एक मंत्री शामिल हो सकता है।

राज्यसभा से: राज्यसभा के 11 जून को होने वाले चुनावों में जीत कर आने वाले कुछ सदस्यों को भी सरकार में शामिल किया जा सकता है।

दो जगह खाली: सोनोवाल के सीएम बनने से एक जगह खाली हुई है। इससे पहले राव साहब दानवे ने महाराष्ट्र पार्टी अध्यक्ष बनने पर इस्तीफा दे दिया था।बाद पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक 12-13 जून को होगी। फेरबदल में मंत्रियों के दो साल के कामकाज को ध्यान में रखा जाएगा।

कई हटाए जाएंगे: सूत्रों का कहना है कि मंत्रिमंडल से दो कैबिनेट मंत्रियों के साथ आधा दर्जन से ज्यादा मंत्री हटाए जा सकते हैं। इसके अलावा कई के विभाग भी बदले जा सकते हैं। बिहार कोटे के मंत्रियों में बदलाव हो सकता है। कुछ को पार्टी संगठन में भेजा जा सकता है।

यूपी से मंत्री बढ़ सकते हैं
सूत्रों के अनुसार, अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तर प्रदेश से मंत्रियों की संख्या बढ़ सकती है। अपना दल की अनुप्रिया पटेल का नाम भी चर्चा में है।
सहयोगी भी बढ़ेंगे: फेरबदल में सहयोगी दलों शिवसेना व तेलुगुदेशम से एक-एक मंत्री शामिल हो सकता है।

राज्यसभा से: राज्यसभा के 11 जून को होने वाले चुनावों में जीत कर आने वाले कुछ सदस्यों को भी सरकार में शामिल किया जा सकता है।

दो जगह खाली: सोनोवाल के सीएम बनने से एक जगह खाली हुई है। इससे पहले राव साहब दानवे ने महाराष्ट्र पार्टी अध्यक्ष बनने पर इस्तीफा दे दिया था।