किसान रैली में सामने आई हरियाणा कांग्रेस की फूट


रोहतक।हरियाणा कांग्रे स की आपसी खींचातानी और फूट कांग्रेस की किसान रैली में भी साफ दिखाई दी। रैली में जब हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर बोलने के लिए खड़े हुए तो मैदान में छाए गुलाबी पगड़ीवाले भूपेंद्र सिंह हुड्डा समर्थकों ने तंवर की बाकायदा हूटिंग शुरू कर दी। ये समर्थक चिल्लाकर और हाथ हिला-हिला कर तंवर को वापस जाने का इशारा कर रहे थे। दिलचस्प यह है कि हुड्डा ने जहां अपने भाषण में किसानों के हक में हरियाणा कांग्रेस समेत पूरी कांग्रेस के एकजुट होकर लड़ने का दावा किया, वहीं उनके समर्थकों ने तंवर का विरोध करके दिखा दिया कि हरियाणा कांग्रेस में एकजुटता राजनीतिक जुमलाभर है।
दूसरी ओर मंच पर जब राहुल गांधी को सम्मानित करने सीएमपी लीडर किरण चौधरी पहुंचीं, तो उनके पैर की नस में अचानक ऐसा खिंचाव आया कि वह लड़खड़ा गईं। इसे देख राहुल गांधी ने उनका हाथ पकड़ कर सहारा दिया और गिरने से बचा लिया। राहुल गांधी और सोनिया गांधी से पहले हरियाणा के पूर्व सीएम, पीसी अध्यक्ष अशोक तंवर और सीनियर नेता सुनील जाखड़ ने किसानों की बात और उनके दर्द का जिक्र किया। जाखड़ ने कहा कि किसानों के सिर पर गुलाबी पगड़ी भले ही दिख रही हो, लेकिन मौसम की मार और मोदी सरकार ने देश के किसानों के चेहरे की गुलाबी रंगत छीन ली है। पूर्व सीएम हुड्डा और तंवर व किरण चौधरी खेमों की आपसी फूट और अंतर्कलह के बारे में कांग्रेस के मीडिया प्रभारी व वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला से पूछा गया, तो उनका कहना था कि हमें बड़े पैमाने पर लोगों की भावनाएं देखनी चाहिए। देशभर से किसान और मजदूर एक इतने महत्वपूर्ण मुद्दे पर हमारे उपाध्यक्ष राहुल गांधी और अध्यक्ष सोनिया गांधी को सुनने व देखने आए थे, ऐसे में अगर ऐसी कोई छुटपुट घटना होती है, तो उसे तूल नहीं देना चाहिए। सूत्रों के मुताबिक, सबसे ज्यादा भीड़ जुटाने का जिम्मा हरियाणा कांग्रेस को ही दिया गया था। रैली में रविवार को जो भीड़ नजर आई, उसमें गुलाबी पगड़ी और टोपी की रंगत हर ओर बिखरी थी। एक अनुमान के मुताबिक, अकेले हरियाणा राज्य से पचास हजार के आसपास लोग पहुंचे थे, जिनमें हुड्डा समर्थकों की तादाद ९० फीसदी से ज्यादा थी।