किरन बेदी के बावजूद केजरीवाल हैं सीएम की पहली पसंद : सर्वे


नई दिल्ली। दिल्ली की सियासत में किरन बेदी के एंट्री के बाद कितनी बदली है दिल्ली की तस्वीर? मुख्यमंत्री की रेस में कौन है आगे और किसकी बनेगी सरकार? दिल्ली के इसी सियासी मिजाज को समझने और मतदाताओं के मूड को भांपने की एबीपी न्यू़ज-नीलसन की कवायद बता रही है कि चुनावी जंग में बीजेपी का झंडा लेकर किरन बेदी के वूâदने के बाद भी जनता के बीच सीएम की रेस में अरिंवद केजरीवाल नंबर वन हैं।
एबीपी न्यू़ज-नीलसन के ता़जा सर्वे के मुताबिक सीएम की रेस में अरिंवद केजरीवाल सबसे ़ज्यादा ४७ फीसद वोटरों की पसंद हैं, जबकि ४३.९ फीसद जनता किरन बेदी को सीएम के तौर पर देखना चाहती है। सीएम की रेस में तीसरे और सबसे निचले पायदान पर हैं कांग्रेस के नेता अजय माकन, जो ६.७ फीसद जनता की पसंद हैं। बीजेपी के लिए धड़कनें बढ़ाने वाली बात ये है कि जब जनता से पूछा गया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में वो किस पार्टी को वोट देंगे तो कांटे की टक्कर के आसार दिखे, लेकिन मामूली अंतर के साथ बहुमत ने आम आमदी पार्टी के पक्ष में हामी भरी।

– किस पार्टी को देंगे वोट?
४६ फीसद जनता ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में वो आम आदमी पार्टी को वोट देंगे, जबकि ४५ फीसद वोटरों की राय थी कि वो बीजेपी को वोट देंगे। मह़ज ८ फीसद जनता ने कांग्रेस को वोट देने की बात कही। दिलचस्प बात यह है कि किरन बेदी के महिला होने के बावजूद ज्यादातर महिलाएं अरिंवद केजरीवाल को ही वोट देना पसंद कर रही हैं। सर्वे के मुताबिक जहां ४८. ६ फीसद महिलाएं केजरीवाल को वोट देने का मन बना चुकी हैं तो सिर्पâ ४३ फीसद महिलाएं ही किरन बेदी को वोट देना चाहती हैं। ता़जा सर्वे से साफ है कि बीजेपी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने दिल्ली में बीजेपी के अनेक दिग्गजों को नारा़ज करके किरन बेदी को लाने का जो पैâसला किया वो उम्मीद के ठीक उल्टे नतीजे दे रहा है।
सर्वे में जब वोटरों से जब पूछा गया कि अगर बीजेपी किरन बेदी को सीएम वैंâडिडेट घोषित करती है तो आप किस पार्टी को वोट देगें क्या आपके उस पैâसले पर असर पड़ेगा? इसके जवाब में ३८.४ फीसद लोगों ने हां में हामी भरी। लेकिन ६१.६ फीसद ने कहा कि बेदी के सीएम उम्मीदवार घोषित किए जाने के बावजूद वो किस पार्टी को वोट देंगे उनके उस पैâसले पर असर नहीं पड़ेगा।
जब सर्वे के दौरान वोटरों से पूछा गया कि क्या किरन बेदी ने बीजेपी ज्वाइन करके सही पैâसला किया या उन्हें आम आदमी पार्टी में शामिल होना चाहिए? तो इस सवाल का जबाव काफी चौंकाने वाला रहा। मह़ज ३२. ९ फीसद वोटरों ने किरन बेदी के बीजेपी में जाने के पैâसले को सही ठहराया, जबकि ४३.८ फीसद वोटरों ने कहा कि किरन बेदी को आम आदमी पार्टी ज्वाइन करना चाहिए। २३.३ फीसद वोटरों की राय थी कि उन्हें इससे फर्वâ नहीं पड़ता कि किरन बेदी किस पार्टी में जाती हैं। ये सर्वे किरन बेदी को बीजेपी में शामिल किए जाने के दूसरे दिन यानी १७ से १९ जनवरी के बीच किया गया है। सर्वे दिल्ली के ३५ इलाकों के १४८९ वोटरों की राय पर आधारित है।