कालेधन के मामले में सीइआईबी की मदद लेगी एसआईटी


नईदिल्ली।विदेशों में जमा काले धन के मामले में जांच की गति में तेजी लाने के लिए एसआईटी ने आर्थिक खुपिया एजेंसी सीइआईबी की सहायता लेगी।विशेष जांच टीम (एसआईटी) पहले पैनल के लिए प्रमुख समन्वय एज्ींसी के रूप में ईडी का नाम देना चाहती लेकिन केन्द्रीय आर्थिक खुपिया ब्यूरो को महत्वपूर्ण भूमिका के लिए चुना है।एसआईटी ने पाया कि ईडी के पास पहले से ही काला धन को सपेâद करना एवं विदेशी विनिमय के कई मामले पहले से ही लंबित है तथा यह कर्मचारियों की कमी का सामना कर रहा है।सीइआईबी को वर्तमान में ही एसआईटी के लिए मुख्य समन्वयक निकाय के रूप में नियुक्त किया गया।सूत्रों के मुताबिक यह १२वीं एजेंसी है जोकि एसआईटी के साथ काले धन पर काम करेगी।यद्यपि यह कोर पैनल का हिस्सा नही होगा लेकिन मौके पर सहायता ली जाएगी।सीइआईबी की स्थापना १९८५ में की गयी थी तथा वित्तीय एवं आर्थिक खुपिया आंक़ड़ो के समन्वय के लिए सभी एजेंसियों के बीच प्रभावी प्रतिक्रिया सुनिश्चित करने हेतु नोड़ल एजेंसी है।