कानपुर जेल में एचआईवी पॉजिटिव की संख्या 25 पहुंची


कानपुर। कानपुर की सेन्ट्रल जेल में २५ एचआईवी संक्रमित बंदी मौजूद है। यह खुलासा राष्ट्रीय नियंत्रण संगठन (नाको) की तरफ से चलाए गए अभियान में सामने आया है। इससे पहले यहां संख्या ११ बंदी थे। जानकारी के अनुसार एचआईवी संक्रमित वैâदियों का पता लगाने के लिए चलाए गए अभियान के दौरान एक महिला सहित १४ नए वैâदी एचआईवी पॉजिटिव पाये गये हैं। इन्हें मिला कर जेल में अब एचआईवी पॉजिटिव वैâदियों की कुल संख्या २५ हो गई है। इन सभी २५ एचआईवी पॉजिटिव वैâदियों की काउंसिंलग और इलाज शुरू हो गया है। जिला जेल के अधीक्षक विपिन मिश्रा ने बताया कि जेल में वैâदियों में एचआईवी संक्रमण की जांच के लिये हर साल समय-समय पर अभियान चलाया जाता है। इस साल भी नाको ने कानपुर सहित सभी जेलों में एचआईवी संक्रमित रोगियों की जांच के लिये २६ फरवरी से २ मार्च २०१६ तक अभियान चलाया गया जिसमें जेल में बंद सभी २५१८ वैâदियों का परीक्षण किया गया।
उन्होंने बताया कि जांच में पिछले साल एचआईवी पॉजिटिव पाए गए ११ वैâदी शामिल नहीं थे। इस बार की जांच में १३ पुरूष और १ महिला वैâदी एचआईवी पॉजिटिव पाये गये। मेडिकल कॉलेज के एआरटी सेंटर के काउंसलर ने इन एचआईवी संक्रमित वैâदियों की काउसंलिग शुरू कर दी। इन वैâदियों का इलाज भी शुरू कर दिया गया। इन वैâदियों से यह भी कहा गया कि वह अपनी पत्नी और बच्चों की भी एचआईवी जांच कराने को कहें ताकि अगर वह एचआईवी संक्रमित हों तो उनका समय रहते इलाज शुरू हो सके। जेल अधीक्षक मिश्रा ने बताया कि एचआईवी पॉजिटिव वैâदी सजायाफ्ता और विचाराधीन दोनों ही हैं। जेल में आने वाले हर वैâदी के स्वास्थ्य की जांच तो की जाती है लेकिन एचआईवी जांच नहीं की जाती। उन्होंने कहा कि इन वैâदियों को अन्य सामान्य वैâदियों के साथ ही रखा जा रहा है।