कांग्रेस सांसद रेणुका के चक्कर में रूकी एयर इंडिया की फ्लाइट


नईदिल्ली । दिल्ली से हैदराबाद जाने वाली एयर इंडिया की एक उड़ान को तेलंगाना की कांग्रेस की एक वरिष्ठ नेता के लिए ४५ मिनट तक रोककर रखा गया क्योंकि वह निर्धारित समय पर विमान पर सवार होने में विफल रहीं।
वह कथित तौर पर खरीदारी में व्यस्त थीं जिसकी वजह से उनके पहुंचने में विलंब हुआ। विमान में एक वेंâद्रीय मंत्री और उच्चतम न्यायालय के एक न्यायाधीश भी सवार थे।
सूत्रों ने बताया, `पिछले शुक्रवार को पूर्व वेंâद्रीय मंत्री और कांग्रेस की राज्यसभा सदस्य रेणुका चौधरी एयर इंडिया की शिकागो-दिल्ली-हैदराबाद उड़ान संख्या एआई-१२६ से हैदराबाद जाने वाली थीं। विमान के रवाना होने का समय शाम सात बजे था। विमान के कर्मचारियों द्वारा बार-बार घोषणा के बावजूद चौधरी समय पर नहीं पहुंचीं। आखिरकार वह रवानगी के निर्धारित समय के बाद पहुंची और पायलट तब तक रवानगी की अपनी बारी को मिस कर चुका था। चूंकि उनके सामान को उड़ान में पहले ही डाला जा चुका था इसलिए अंतिम समय में इसे लौटा देना संभव नहीं था। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया के पास उनका इंतजार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था। चौधरी आखिरकार ७.०४ बजे पर पहुंचीं। वह कथित तौर पर शॉिंपग क्षेत्र में खरीदारी कर रही थीं और उनकी वजह से उड़ान करीब ४५ मिनट विलंबित हुई. सूत्रों ने बताया, `इसकी वजह से उड़ान के रवाना होने में ४५ मिनट की देरी हुई क्योंकि पायलट को हवाई यातायात नियंत्रक ने जो रवानगी का समय दिया था उसे वह मिस कर गया। हालांकि चौधरी ने इन आरोपों का खंडन किया कि वह शॉिंपग कर रही थीं। उन्होंने कहा कि उन्हें यह साबित करना होगा कि मैं कहां गई थी और खरीदारी की। क्या बेकार की बातें वे कर रहे हैं। चौधरी ने कहा कि उन्होंने रवानगी द्वार तक ले जाने के लिए एक वाहन का अनुरोध किया था। उसके आने में थोड़ा समय लगा। चौधरी के कारण उड़ान में विलंब की वजह से यात्रियों में काफी नाराजगी थी. उन्होंने इस मुद्दे को एयर इंडिया के अधिकारियों के समक्ष उठाया। एयर इंडिया ने घटना के बारे में पता लगाने के लिए जांच गठित कर दी है. इस घटना के बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एयर इंडिया को इलेक्ट्रॉनिक सामान पहचान प्रणाली लागू करने का निर्देश दिया है। इस तरह की व्यवस्था वैâरियर को वैसे यात्रियों के सामान की पहचान करने में मदद करेगी जो निर्धारित समय पर विमान में सवार नहीं होंगे और उन्हें नहीं दिखे यात्रियों की सूची में डाल दिया जाएगा।