कांग्रेस किसान रैली में होगी सूबे की सशक्त भागीदारी


लखनऊ। वेंâद्र सरकार के भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ रविवार को दिल्ली में हो रही कांग्रेस की रैली में उत्तर प्रदेश की सशक्त भागीदारी का दावा किया जा रहा है। नौ दिनों तक विधानसभा क्षेत्रों में किसान रैली को लेकर जनजागरण के लिए निकाली गई पदयात्रा को मिले अच्छे `रिस्पांस’ से गदगद कांग्रेसियों का दावा है कि रैली में उत्तर प्रदेश से ५० हजार लोग भाग लेंगे। प्रदेश कांग्रेस ने जब नौ दिन तक विधानसभा क्षेत्रों में पद यात्रा निकालने की घोषणा की थी, तब पार्टी के भीतर ही तमाम लोगों को इसकी सफलता पर संदेह था। शुरुआत में तो ऐसा लगा कि मामला फीका रह जाएगा, लेकिन जैसे-जैसे कार्यक्रम आगे बढ़ा वैसे वैसे पदयात्रा में अच्छी भागीदारी होने लगी। पदयात्राओं को लेकर जिलों व प्रदेश संगठन के बीच समन्वय की जिम्मेदारी संभालने वाले हनुमान त्रिपाठी ने दावा किया कि लगभग सभी जिलों में अनुमान व उम्मीद से तीन से चार गुना लोगों ने पदयात्रा में शिरकत की। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण अध्यादेश पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जिस प्रकार वेंâद्र सरकार को बेनकाब किया, उसका बहुत अच्छा संदेश गया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डा. निर्मल खत्री द्वारा लगातार विभिन्न जिलों में दौरा कर पार्टी के लोगों से संवाद करने से भी रैली के प्रति उत्साह पैदा हुआ है। गौरतलब है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व पूर्व सांसद डॉ. निर्मल खत्री व प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव मधुसूदन मिस्त्री गत पांच दिनों से पाqश्चमी उत्तर प्रदेश के जिलों का दौरा कर वहां से दिल्ली की रैली में अधिक से अधिक लोगों की भागीदारी सुनिाqश्चत कराने में जुटे हैं। इसी सिलसिले में दोनों ने शुक्रवार को गजरौला, संभल, अमरोहा, मुरादाबाद व रामपुर में कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक की और रैली में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने की अपील की।