कर्नाटक पुलिस करेगी ड्रोन विमानों का इस्तेमाल


बेंगलुरु । कानून-व्यवस्था को और पुख्ता करने के लिए कर्नाटक पुलिस ने मानव रहित विमान ड्रोन को तैनात करने का पैâसला किया है। कर्नाटक पुलिस देश की पहली ऐसी पुलिस फोर्स है जिसने १२ ड्रोन विमानों का एक बेड़ा बनाया है। ड्रोन के सफल संचालन के लिए २० पुलिसर्किमयों को ट्रेिंनग दी गई है। नाइट विजन वैâमरों से लैस इन मानव रहित विमानों से बालू खनन से जुड़े लोगों पर नजर रखी जा रही है। कर्नाटक और आंध्रप्रदेश सीमा पर खासतौर से इन विमानों की तैनाती की गई है।
बेंगलुरु पुलिस भीड़ को नियंत्रित करने के लिए इन विमानों की पहले भी मदद ले चुकी है। लेकिन ड्रोन विमानों को किराए पर लिया गया था। राजस्व विभाग ने भी ड्रोन विमानों की मदद से अवैध निर्माणों पर लगाम लगाने के लिए ड्रोन विमानों का इस्तेमाल किया था।
क्राइम और टोqक्नकल विभाग के डीजीपी भाष्कर राव ने कहा कि यादगीर, कलबुर्गी, बेल्लारी, बीदर, रायचूर और कोप्पल जिलों को ड्रोन विमान दिए गए हैं। इस प्रोग्राम में कलबुर्गी के रिजनल कमिश्नर ने आंशिक तौर पर मदद की है।
प्रत्येक मानव रहित विमानों की कीमत डेढ़ लाख रुपए हैं। साउथ कोरिया से खरीदे गए चार पैंâटम हवा में तीस मिनट रहने के साथ करीब एक किमी ऊंचाई तक उड़ान भर सकते हैं। इन विमानों पर नाइट विजन क्षमता वाले १८२ मेगापिक्सल वाले वैâमरे लगे हुए हैं। पैंâटम पांच किमी दूर तक की साफ तस्वीरें ले सकता है। हालांकि भारी बारिश में ये काम नहीं कर पाते हैं।