एटीएम पर लगेगा रुपए निकालने का चार्ज


चेन्नै । देश में नोटबंदी को भले ही एक महीने से ज्यादा हो चुके हों, पर हालत ऐसे है की सुधरने का नाम ही नही ले रहे। नोटबंदी का असर अभी भी लोगों  पर बना हुआ है। इस बीच लोग एटीएम इस्तेमाल करने के चार्ज दोबारा शुरू होने से परेशान हैं। इसके अलावा डेबिट कार्ड ट्रांजैक्शंस फीस में भी सरकार ने किसी तरह की छूट का ऐलान नहीं किया है। जनता को उम्मीद थी कि 31 दिसंबर के बाद भी छूट को जारी रखा जाएगा। लेकिन आरबीआई ने इस बारे में अभी कोई निर्देश जारी नहीं किया है। इसके साथ बैंकों ने फिर ट्रांजेक्शन फीस चार्ज करना शुरू कर दिया है। ट्रांजेक्‍शन प्रोसेसिंग सर्विस देने वाली कंपनी एफएसएस के अध्‍यक्ष वी बालासुब्रमण्‍यम ने बताया कि पहले पांच ट्रांजेक्‍शन फ्री हैं। इसके बाद बैंक और कार्ड कैटेगरी पर निर्भर करता है कि वे चार्ज करे या ना करें। बैंक चार्ज को लेकर सामान्‍य तौर पर कस्‍टमर से व्‍यक्तिगत तौर पर चार्ज लेता है। वहीं दूसरी ओर नकदी आसानी से उपलब्ध‍ नहीं है, केवल 20 प्रतिशत एटीएम ही काम कर रहे हैं। नोटबंदी से पहले एसबीआई, पीएनबी व आईसीआईसीआई बैंक हर ट्रांजेक्‍शन के लिए 15 रुपये चार्ज लेते थे क्‍योंकि उनका एटीएम नेटवर्क काफी बड़ा है। वहीं बाकी बैंक 20 रुपये प्रति ट्रांजेक्‍शन लेते थे।

सरकार ने नोटबंदी के दौरान मर्चेंट डिस्‍काउंट रेट (एमडीआर) को बंद कर दिया था। लेकिन कई जगहों पर उपभोक्‍ताओं को इसका फायदा नहीं मिला। 31 दिसंबर तक लगभग सभी बैंकों ने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड पर ट्रांजेक्‍शन चार्ज बंद कर दिया था।