उज्जवला योजना : पांच करोड़ गरीबों को मिलेगी गैस


नई दिल्ली। केन्द्र में मोदी की सरकार जल्द एक योजना को शुरू करने जा रही है। इस योजना को उज्जवला के नाम से पुकारा जाएगा। जिसके तहत पांच करोड़ गरीबों को मुफ्त रसोई गैस उपलबध कराने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना को तीन साल में पूरा करने का भी टारगेट है।
जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक मई को उत्तर प्रदेश के बलिया में योजना का राष्ट्रीय स्तर पर लोकार्पण करेंगे। जिसके तहत अगले तीन साल में पांच करोड़ गरीब परिवारों को रसोई गैस (एलपीजी) कनेक्शन दिए जाएंगे। तेल एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धमेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार का मकसद महिलाओं और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में सुधार लाना है। इसके लिए सरकार ने यह व्यापक योजना शुरू की है। इसके तहत गरीब परिवारों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन, गैस चूल्हा और सिलेंडर उपलब्ध कराया जाएगा। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने २०१६-१७ के बजट में यह कहते हुए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की घोषणा की थी कि रसोई गैस गरीबों को नहीं मिलती है। उन्होंने बजट भाषण में कहा था, भारत की महिलाओं को खाना बनाते समय धुएं से जूझना पड़ता है। विशेषज्ञों के मुताबिक रसोई में खुली आग के धुएं में एक घंटे बैठने का मतलब ४०० सिगरेट का धुआं लेने के बराबर है। इस समस्या के समाधान के लिए यह योजना शुरू की गयी है। इसके बाद मंत्रिमंडल ने गरीब परिवार की महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन मुहैया कराने के लिए ८ हजार करोड़ रुपए की योजना को मंजूरी दी थी।
वैâसे मिलेगा कनेक्शन
योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को प्रâी एलपीजी गैस कनेक्शन जारी होंगे। ये कनेक्शन केवल उक्त परिवारों महिलाओं के नाम पर ही होंगे। ग्राहक ३० अप्रैल तक आवेदन करें। बीपीएल राशन कार्ड, बैंक पासबुक के साथ ३ फोटो के साथ आवेदन करना होगा। आधार कार्ड की कापी भी साथ लगाएं। आपको बता दें कि गैस एजेंसियां गैस कनेक्शन के साथ रेगुलेटर, रबर टयूब, चूल्हा आदि सामान मुफ्त दे रही हैं। वंâपनी इंडेन तो पहले आओ पहले पाओ के आधार पर ये मुफ्त गैस कनेक्शन देगी। एचपीसीएल ग्राहकों को एक सिलेंडर, एक रेगुलेटर की सिक्योरिटी राशि, कार्ड और सुरक्षा होज मुफ्त देगी। योजना के लिए प्रâी गैस कनेक्शन देने के लिए एजेंसी होल्डरों को आदेश जारी कर दिए गए हैं।