इराक से 165 भारतीय बंधकों ने दी सामूहिक आत्मदाह की धमकी


इराक से १६५ भारतीय बंधकों ने दी सामूहिक आत्मदाह की धमकी (२५आरएस१६ओआई)
नईदिल्ली (ईएमएस)। बसरा स्पोर्ट सिटी की अब्दुल्ला जबूरी वंâस्ट्रक्शन वंâपनी में पिछले ९ माह से बंधकों की तरह काम लिया जा रहा है। बंधक ने कहा कि हमें वेतन भी नहीं मिल रहा और हमें बुरी तरह से यातनाएं दी जा रही हैं। हम कई बार अपने परिजनों के माध्यम से भारत सरकार से अपील कर चुके हैं कि हमें यहां से निकाला जाए। मगर हमारी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। हम यहां इतने ज्यादा तंग आ चुक हैं कि कभी भी सामूहिक आत्मदाह कर सकते हैं। यह चेतावनी अपनी दर्द भरी दास्तां सुनाते हुए इराक में बंधक १६५ युवाओं ने दी। इसमें २१ युवक अंबाला के भी हैं। इस अपील के बाद परिजनों की नींदें उड़ी हुई हैं। बंधकों ने इराक से वेंâद्र सरकार के नाम एक पत्र भी भेजा। उन्होंने कहा कि वह लोग ९ माह पहले ही इस वंâपनी से अपना इस्तीफा दे चुके, जबकि इस वंâपनी में वे करीबन पौने दो साल से काम कर रहे थे। मगर इस्तीफा देने के बाद जब वंâपनी के मालिक से मजदूर युवकों ने अपने पासपोर्ट और वेतन मांगा तो उन्हें धमकाया गया और बंधुआ मजदूर बना लिया गया। इन बंधक युवकों का कहना है कि वह पिछले १८ महीनों से अपने घरों में रुपया नहीं भेज पाए हैं और उनकी वंâपनी बिना वेतन के यातना दे रही है। पत्र में युवकों कहा है कि उन्होंने कई दिन पहले बसरा शहर से भारतीय एंबेसी कार्यालय में भी फोन किया था। मगर वहां से कोई मदद नहीं मिली।
० हरियाणा के ये बंधक
करण पाल, अनिल कुमार, कृष्ण पाल, संतोष राम, सुरेंद्र कुमार, मनीष कुमार, संजीव कुमार, पाल िंसह, लखिंवद्र, इकबाल िंसह, सोहन लाल, दलबीर िंसह, जरनैल िंसह, रामेश्वर दास, संदीप कुमार, लखिंवद्र िंसह, स्वर्ण िंसह, रमेश चंद, त्रिलोचन िंसह, कुलवंत िंसह, ओमवीर शर्मा, जॉनी चौहान, सुभाष, जसबीर िंसह, सतीश कुमार, गुरमीत िंसह, विक्रम िंसह, जोिंगद्र िंसह, संजीव कुमार, सुखदेव िंसह, करमवीर, बलकार िंसह, विनोद कुमार, विजय कुमार, तेजा राम, सुरेंद्र कुमार, गुलजार िंसह, मोिंहद्र पाल, अनिल कुमार, लखिंवद्र िंसह, मदन लाल पाल, जसिंवद्र िंसह, रविकांत, अनवर अली, जसबीर िंसह, बृजमोहन, दलबीर राम।
इस बारे में मैं वेंâद्र सरकार से बातचीत करूंगा। ये युवक वहां किस हालत में है इस बारे में भी जानकारी हासिल की जाएगी। इन युवकों की भारत वापसी का जो भी संभव प्रयास होगा, मैं करूंगा और इन युवकों को भारत वापस लाया जाएगा।
० पंजाब के बंधक युवक इराक में
सुदेश कुमार, राजीव कुमार, रिंवद्र िंसह, जगजीत िंसह, तलिंवद्र िंसह, कुलिंवद्र िंसह, पवनदीप, तरलोक, हरदीप, सोहन, हरदेव, स्वर्ण, संजीव, सतवीर, पवन, जसवीर, राजकुमार, संदीप िंसह, बिशन दास, प्रदीप मेहता, मोहन लाल, बालकृष्ण, निर्मल िंसह, गुरजीत िंसह, गुरमुख िंसह, िंशदा, सुरजीत िंसह, मगर िंसह, राकेश, सुखिंवद्र कुमार, प्रेम, अमरजीत िंसह, जितेंद्र िंसह, जगतार िंसह, चरणजीत िंसह, रूिंपद्र िंसह, राज कुमार, विकास िंसह, श्री हरि, संजू कुमार, मोिंहद्र जीत िंसह, संतोष कुमार, हरबंस लाल, जगजीत िंसह, जगमोहन िंसह, जितेंद्र िंसह, जगतार िंसह, पवन कुमार, सोहन दास, विशाखा िंसह, अमरीक िंसह, परमजीत िंसह व भूट्टा िंसह।
० इराक में चेन्नई के बंधक युवक
कुष्ण मुरगन, वीरानन मोगन, मनी शिवा कुमार, वीरई सेवूगार्मूित, करूपिया चिन्नाकलई, कदन कृष्णनन व चेल्लातुरई मनिकाम।
० बिहार के बंधक इराक में
अभिमन्यु यादव, मुन्ना प्रसाद, दिनेश कुमार, रामकृपाल चौधरी, वशिष्ठ िंसह, सैलेश यादव, राजेश कुमार, नवाब खान, उमेश चौहान, शैलेश चौहान, संजय कुमार, सरवन कुमार, इंद्रसेन िंसह, हंसराल, संजय िंसह, महेंद्र िंसह, हरगंगे, राम बिलास, अनिल कुमार यादव व राजेश गुप्ता।
० इराक में राजस्थान के बंधक युवक
सतनारायण, प्रभुदयाल, पूर्णमल, वीरेंद्र कुमार, ताराचंद, मुकेश कुमार, जमनारायण, रंजीत कुमार, आत्मा राम, महेंद्र कुमार, महावीर, राजू, पैमा राम, किशनाराम, रामचंद्र शर्मा, राजकुमार, यादवराम जहांगीड़, रामदेव िंसह, श्योराम सैनी, भागीरथ मल गुज्जर, नानू राम, राजेश कुमार, सुदामा राम कुमावत, सुरेंद्र व श्रीराम