अन्ना ने सुरक्षाकर्मियों पर लगाया लापरवाही का आरोप


मुंबई। जेड श्रेणी की सुरक्षा पाए सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने रविवार को कहा कि उनकी सुरक्षा में तैनात कर्मी अपनी डयूटी में लापरवाह हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार को उनकी सुरक्षा की अत्यधिक िंचता करने की जरूरत नहीं है, यदि उनके साथ कुछ अप्रिय घटना घटित होती है तो वह इसके लिए सरकार को जिम्मेदार नहीं ठहराएंगे। अण्णा ने एक बयान में कहा कि उनकी सुरक्षा बढ़ाने से राज्य पर वित्तीय बोझ बढ़ेगा। गौरतलब है कि हजारे को पिछले साल मिली कई धमकी भरे पत्रो में जान से मारने की धमकी मिली थी। उन्होंने सुरक्षार्किमयों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि कई बार ऐसा होता है कि जब वह सुबह योग करते हैं तो उनके सुरक्षाकर्मी या तो वहां होते नहीं हैं या देर से आते हैं। उन्होंने कहा, वे अपने मोबाइल फोन या चैिंटग में व्यस्त रहते हैं। अगर कोई अंदर आकर मुझे मार दे तो उन्हें एहसास तक नहीं होगा। भारतीय सेना में सैनिक रहे हजारे ने कहा,कि मेरा भारत-पाक युद्ध के दौरान खेमकरन सेक्टर में मौत से सामना हुआ था। मुझे जो मिला वह बोनस है। मैं देश और समाज की अंतिम सांस तक सेवा करूंगा।