अदालत में भुजबल की मेडिकल रिपोर्ट पेश


-आय से अधिक संपत्ति का मामला
मुंबई। जमानत अर्जी की सुनवाई कर रही मुम्बई हाई कोर्ट में महाराष्ट्र के पूर्व उप-मुख्यमंत्री छगन भुजबल की मेडिकल रिपोर्ट बंद लिफापेâ में पेश की गई। हाई कोर्ट के आदेश के बाद मुंबई के जेजे अस्पताल के ९ डॉक्टरों की टीम ने भुजबल की स्वास्थ्य की जांच कर यह रिपोर्ट सौंपी है। रिपोर्ट को ईडी के जरिये अदालत के समक्ष प्रस्तुत किया गया है। गठित मेडिकल टीम का कहना है कि भुजबल सरकारी डॉक्टरों द्वारा तैयार रिपोर्ट से सहमत नहीं हैं, और वो इसके लिए प्राइवेट डॉक्टरों से जांच कराने की बात कर रहे हैं। गौरतलब है कि भुजबल ने गिरती सेहत का हवाला देकर हाई कोर्ट में जमानत की याचिका दायर की है। अब रिपोर्ट देखने के बाद अदालत जमानत को लेकर अपना पैâसला सुनाएगी। इस मामले की सुनवाई ८ जून को होनी है। वहीं एसीबी ने महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री छगन भुजबल और उनके परिवार के चार लोगों सहित ११ अन्य के खिलाफ आय के अधिक २०३ करोड़ रुपये की संपत्ति जमा करने के खिलाफ एक नया मामला दायर किया है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि एसीबी ने भुजबल के अलावा उनकी पत्नी मीना, बेटे पंकज, बहू विशाखा और भतीजे समीर को भी इस मामले में आरोपी बनाया है। इसके अलावा प्राथमिकी में दो चार्टर्ड अकाउंटेंट सुनील नाइक और चंद्रशेखर सरदा, हवाला कारोबारी सुरेश जजोदिया, भुजबल की वंâपनियों के निदेशक प्रवीण कुमार जैन और जगदीश प्रसाद पुरोहित, वित्तीय सलाहकार संजीव जैन और स्नेहल कोओपरेटिव लिमिटेड के मुख्य प्रबंधन निदेशक कपिल पुरी को भी आरोपी बनाया गया है।