अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: छात्र-शिक्षक करेंगे योग


नई दिल्ली। देशभर के उच्च शिक्षण संस्थानों में छात्र और शिक्षकों को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग करना होगा। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने इस संबंध में सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश देते हुए २१ जून को योग दिवस मनाते हुए विविध गतिविधियां करने के लिए कहा है। विश्वविद्यालयों को कहा गया है कि वे अपने से सम्बद्ध कॉलेजों में भी योग गतिविधियां करवाए। शिक्षण संस्थानों को ४५ मिनट तक योग गतिविधियां करने के निर्देश दिए गए हैं।आयोग के सचिव प्रोपेâसर जसपाल एस संधू ने इस संबंध में सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को दिशा निर्देश जारी किए हैं। यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों को केन्द्रीय आयुष मंत्रालय की ओर से निर्धारित गतिविधियों का कार्यक्रम भी साथ भेजा है।
अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस पर शिक्षण संस्थानों को योग, ध्यान, प्रणायाम समेत अन्य गतिविधियां आयोजित करने के साथ ही छात्र और शिक्षकों से संकल्प भी करवाना होगा। शिक्षण संस्थानों को सबसे पहले नमस्कार मुद्रा से प्रार्थना शुरू करनी होगी। इसके लिए २ मिनट का समय तय किया गया है। इसके बाद ६ मिनट तक शरीर से जुड़ी विभिन्न क्रियाएं करनी होंगी। इसके बाद १८ मिनट तक विभिन्न योगासन करने होंगे। योगासान के बाद २ मिनट कपालभाति, ६ मिनट प्रणायाम, ९ मिनट ध्यान करना होगा। इसके बाद आखिरी २ मिनट में संकल्प लेना होगा। इस तरह छात्र और शिक्षकों को कुल ४५ मिनट की गतिविधियां योग दिवस पर करनी होंगी।