वायु के कारण वातावरण में परिवर्तन से कई जगह बारिश हुई, 1 मकान ढेर


(Photo Credit : youtube.com)

गुजरात के तटीय इलाकों में वायु तूफान का खतरा मंडरा रहा है। इसलिए गुजरात की व्यवस्था सतर्क हो गई है। वायु तूफान के पोरबंदर के समुद्र तट से टकराने की आशंका के कारण प्रणाली द्वारा सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सुरक्षा के लिए, पंजाब के जबलपुर से सेना के 40 जवान पोरबंदर पहुंचे हैं। वर्तमान में हवा का तूफान सौराष्ट्र के तट से 300 किलोमीटर दूर है। फिलहाल इस चक्रवात का असर दीव में देखा जा रहा है। दिन में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है। भारी हवा के साथ वर्षा के कारण, स्थानीय लोगों में भय का माहौल उत्पन्न हो गया है।

दीव के साथ उन में भी तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है। इससे पहले बारिश में एक घर गिर गया था। सौभाग्य से इस घटना में कोई हताहत नहीं हुई। सागर में लहरें उछल रही हैं। जिसके कारण तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों को स्थानांतरित किया जा रहा है। दीव के साथ-साथ गिर सोमनाथ के वातावरण में भी परिवर्तन देखने को मिला है। गिर सोमनाथ में धीमी बारिश होने लगी है।

उल्लेखनिय है कि गुजरात के तट पर तूफान के प्रभाव के कारण सिस्टम द्वारा लोगों को स्थानांतरित किया जा रहा है। प्रवासियों के लिए भोजन, ठहरने और पीने के पानी की व्यवस्था की गई है। इसके साथ, कुछ धार्मिक और सामाजिक संगठन भोजन के पैकेट और प्रवासियों के लिए भोजन की तैयारी भी कर रहे हैं।