वराछा में हुई हीरा चोरी के आरोपी को कहां से ढूंढ निकाला पुलिस ने


(photo Credit : youtube,com)

वराछा पुलिस ने वराछा इलाके में सूरत की हीरा फैक्ट्री से 1 करोड़ रुपये से अधिक के हीरे चुरा लेने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया और पुलिस ने आरोपि से चोरी किए गए सभी हीरे जब्त कर लिए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सूरत के वराछा इलाके में कमला एस्टेट में 25 अप्रैल को 1 करोड़ से अधिक रकम के हीरे चोरी हो गई थी। चोरी की पुलिस फरियाद 26 अप्रैल को दर्ज की गई थी। इस शिकायत में हीरे की चोरी मैनेजर द्वारा की गई है ऐसा कारखाने के मालिक ने व्यक्त किया।

चोरी करने वाले मैनेजर, चिमानाराम थोरी महेश एंड कंपनी के लिए तीन साल से काम कर रहा था। जिस दिन चोरी हुई उससे तीन दिन पहले फैक्ट्री के मालिक द्वारा कच्चे हीरे तैयार करने के लिए चिमानाराम थोरी को दिए गए थे। जब उन्होंने कंपनी के मालिक के साथ विश्वासघात किया और 740.98 कैरेट हीरे चुरा कर चिमानाराम थोरी फरार हो गया। एक करोड़ से अधिक की राशि के हीरे चोरी होने के कारण, कंपनी के मालिकों ने 26 अप्रैल को वराछा पुलिस स्टेशन में मैनेजर के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई।

घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और फैक्ट्री में लगे सीसीटीवी कैमरों को चेक किया। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में चिमानाराम थोरी को हीरे की चोरी का दोषी पाया गया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी के बारे में मालिकों से पुछा तो पता चला कि आरोपी राजस्थान का था। परिणामस्वरूप, वराछा पुलिस की एक टीम आरोपी के गृहनगर के लिए रवाना हो गई। पुलिस ने आरोपी के गृहनगर में उसके रिश्तेदारों के घर दस दिनों तक चिमानाराम की तलाश की। जांच के दौरान गुंडामालानीणी गांव के पास एक मंदिर के पास चोरी हुई हीरे की वस्तु के साथ गिरफ्तार किया गया था। पुलिस को आरोपी चिमानाराम से तैयार हीरे 16.10 कैरेट जिसकी कीमत 9,82,100 रुपये और रफ हीरे 740.98 कैरेट जिसकी कीमत 91,03,680 रुपये थी यानी कुल मिला कर 1,00,85,780 रुपये के हिरे का माल मिला।