वडोदरा के मॉल में सुरक्षा व्यवस्था खस्ता, सिविल ड्रेस में पिस्तौल के साथ मॉल में घूसे पुलिसवाले


(Photo Credit: Procon.org)

पाकिस्तान में हवाई हमलों के बाद, देश्भ भर में ‌और विशेष रूप से सीमावर्ती क्षेत्रों में रेड अलर्ट घोषित किया है। गुजरात के सभी धार्मिक स्थलों के अलावा राज्य के सभी भीड़भाड़ वाले इलाकों में पुलिस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस सब के बीच वड़ोदरा पुलिस ने वड़ोदरा में सभी मॉल-मल्टीप्लेक्स और सुरक्षा के सार्वजनिक स्थानों की जांच करने की शुरूआत की थी।

कार्यवाही के बाद, वडोदरा पुलिस के दो कर्मचारी बंदूक के साथ कुछ मॉल और मल्टीप्लेक्स गए, यह देखने के लिये कि वहां सुरक्षा के इंतजाम कैसे हैं। लेकिन उन्होंने पाया कि कई जगहों पर मॉल और मल्टीप्लेक्स के सुरक्षाकर्मीयों द्वारा लापरवाही बरती जा रही है। जांच के इरादे से गये पुलिस कर्मचारी बंदूक के साथ मॉल में घुस पाने में सफल रहे। इसके कारण, पुलिस के उच्च अधिकारियों द्वारा मॉल के प्रबंधक के साथ इस मामले पर चर्चा की गई और यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए कि दूसरी बार सुरक्षा द्वारा इतनी गंभीर त्रुटि नहीं हो।

वडोदरा के डीसीपी जयदीप सिंह जडेजा से प्राप्त जानकारी के अनुसार, पुलिस ने अलग-अलग टीम बनाकर इनॉर्बिट मॉल, सेंट्रल स्क्वायर मॉल, आईनॉक्स मल्टीप्लेक्स, ट्रांसक्यूब मॉल पीवीआर, सर्विस मॉल और डी मार्ट जैसी जगहों पर चेक-इन किया। पुलिस जांच के दौरान, दो पुलिसकर्मियों को सिविल ड्रेस में एक पिस्तौल के साथ मॉल के अंदर भेजा गया। जिसमें कई मॉल और मल्टीप्लेक्स की सुरक्षाकर्मीयों द्वारा की जाने वाली लापरवाही सामने आई। मॉल के सुरक्षा गार्ड ने पुलिसकर्मी को उपरोक्त जांच करके मॉल में प्रवेश करने की अनुमति दी जबकि सिविल ड्रेस में मॉल में घूसे पुलिसकर्मी के पास हथियार था।

सेवेनसिज़ मॉल और इनॉर्बिट मॉल में सुरक्षा की घोर लापरवाही सामने आई। सेवेसिज़ मोल में पुलिसकर्मी ने शर्ट के अंदर पिस्तौल को छुपा कर हाथ में मावा घिसते हुए मॉल में प्रवेश करने लगा, तो मॉल के सुरक्षाकर्मी ने पुलिसकर्मी को मावे को लेकर सुझाव दिया, और पुलिसकर्मी की जांच भी नहीं की। जिसके कारण पुलिसकर्मी पिस्तौल लेकर मॉल में घुस गया। इनोरबिट मॉल की बात करें तो मॉल के सिक्योरिटी गार्ड ने पुलिसवाले का मोबाइल पास में रखवा दिया फिर चेक करना शुरु किया। चेक के दौरान मेटल डिटेक्टर में बीप की आवाज के बावजूद, सुरक्षाकर्मी ने पुलिसकर्मी की अच्छे से जांच नहीं की। किसी को पता नहीं था कि पुलिसकर्मी के पास पिस्तौल है।