गुजरात विजिलेंस टीम के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने वाली थी राजस्थान पुलिस


(Photo Credit : testhill.com)

शराब निषेध कानून को गुजरात में सख्ती से लागू किया जाता है। फिर भी बड़ी मात्रा में बूटलेगर राजस्थान सीमा से गुजरात में शराब लाने का प्रयत्न करते हैं। तो कई बार स्थानिय पुलिस और कई बार राज्य विजीलेन्स की टीम द्वारा इस शराब को पकड़ लिया जाता है।

यही कारण है कि बूटलेगर के प्रयास विफल हो जाते हैं। अब राजस्थान पुलिस द्वारा राज्य के सतर्कता दल पर गंभीर आरोप लगाया गया है कि वे शराब से भरे ट्रक को राजस्थान से गुजरात ले आये और गुजरात के क्षेत्रों में बताया। इसके कारण, राजस्थान पुलिस द्वारा राज्य सतर्कता दल पर शराब की लूट का गुनाह दाखिल करने की धमकी देने पर राज्य सतर्कता दल ने शराब से भरा ट्रक राजस्थान पुलिस को लौटा दिया।

एक रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार सुबह राज्य सतर्कता दल ने राजस्थान में से शराब के दो ट्रकों को गुजरात के खेरोच पुलिस चौकी के क्षेत्र में ला कर उन पर कानूनी कार्रवाई शुरू की। शराब से भरे ट्रकों के चालकों ने राजस्थान के स्थानीय पुलिस के बताया कि, यह शराब कानूनी है। इस शराब के उनके पास बिल हैं, अनुमति भी है, उत्पाद शुल्क भरा हुआ है और यह शराब राजस्थान के ठेके पर सप्लाय की जानी है।

इसके बावजूद विजिलेंस टीम ट्रक को गलत तरीके से गुजरात की सीमा में लाई और इस पर कार्रवाई करनी शुरु कर दी। तब पूरे मामले में राजस्थान पुलिस सक्रिय हुई और राजस्थान पुलिस को धमकी देनी पड़ी कि राज्य सतर्कता टीम के खिलाफ दो शराब के ट्रक लूटने की शिकायत दर्ज की जाएगी। तब सतर्कता दल ने खेरोच पुलिस स्टेशन की डायरी में प्रवेश किया और दोनों ट्रकों को एस्कॉर्ट के साथ भेज कर राजस्थान पुलिस को सौंप दिया गया।