अब राजकोट नें क्यों किया PUBG प्रितिबंधित


युवाओं तथा बच्चों में आजकल मोबाइल का काफि चलन है तथा मोबाइल से जुड़ी कई चिज़ें जैसे सोशियल मी‌ड‌िया, फोटोज़, गेम्स इत्यादी का भी लोगों में नशा सा देखा गया है। मानो उनको सोशियल मी‌ड‌िया चलाने को ना मिले या उनका पसंदीदा गेम खेलने को ना मिले तो वे बेचैन से हो जाते हैं।

ऐसे में हाल में किशोरों तथा युवाओं के बीच PUBG गेम काफी लोकप्रिय हो रहा है। इस गेम की लत कुछ इस प्रकार लग गई है के कई युवा तो दिन भर ये गेम खेलते नज़र आते हैं। उनको खेलने को मना करो तो उत्तेजित हो जाते हैं। इस खेल के कारण छात्रों तथा युवाओं की मानसिकता पर भी काफी बुरा असर पड़ रहा है।

इसको देखते हुए हाल ही में सूरत के कमिश्नर ने शहर में PUBG खेल पर प्रतिबंध लगा दिया था। तथा यह भी परिसूचना दी थी कि यदी कोई यह खेल खेलता पाया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

सूरत के बाद अब राजकोट पुलिस कमिश्नर में युवाओं के लोकप्रिय खेल PUBG पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, और अगर अब राजकोट में कोई भी युवा PUBG खेल खेलता है तो उसके खिलाफ मुकदमा चलाया जाएगा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, यह महत्वपूर्ण निर्णय राजकोट के पुलिस कमिश्नर मनोज अग्रवाल ने कक्षा 10 और 12 के छात्रों की बोर्ड परीक्षा के चलते लिया है। कमिश्नर ने यह सोचते हुए निर्णय लिया कि PUBG खेल का छात्रों की मानसिकता और अध्ययन पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़े। राजकोट में 9 मार्च से 30 अप्रैल तक युवाओं के लोकप्रिय PUBG खेल को प्रतिबंधित करने के लिए पुलिस आयुक्त द्वारा एक अधिसूचना जारी की गई है। 9 मार्च से 30 अप्रैल तक की अवधि के दौरान कोई भी युवा या कोई भी छात्र PUBG खेल खेलते हुए पकड़ा जाता है तो उस पर एक PSI स्तर के अधिकारी द्वारा मुकदमा चलाया जाएगा और आपराधिक कार्यवाही के लिए भी कदम उठाए जा सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि PUBG खेल बच्चों की मानसिकता को प्रभावित कर रहा है। PUBG खेल कि लत के कारण कुछ अवेद्य मामले भी प्रकाश में आए हैं। अत्याधिक PUBG खेल खेलने के कारण कुछ युवा अपना मानसिक संतुलन खो बैठते है। युवाओं की मानसिकता क्रूर हो गई है और उन्होंने PUBG खेल के कारण हत्या जैसे अपराध शुरू कर दिये है। इस प्रकार यह निर्णय राजकोट के आयुक्त द्वारा यह सुनिश्चित करने के लिए लिया गया है कि PUBG खेल का बोर्ड के छात्रों पर कोई प्रतिकूल प्रभाव न पड़े और कक्षा 10 और 12 के छात्रों की शांति से परीक्षा ली जा सके।