फोनी चक्रवात में फंसे गुजरात के यात्री सकुशल लौटे, परिजनों ने ही रात की सांस


(PC : zeenews.india.com)

उड़िसा में विगत दिनों चक्रवाती तूफान फोनी ने कहर बरपाया था। वहां के स्थानीय लोगों के अलावा जग्गनाथपुरी सहित अन्य यात्राधामों की सैर पर देशभर से गये लोग भी विकट हालातों से गुजरे। गुजरात से भी बड़ी संख्या में लोग उड़िसा गये हुए थे। अकेले जामनगर से लगभग ४०० लोग फोनी चक्रवात में फंसे हुए थे। सोमवार शाम उनमें से ५० यात्रियों का पहला जत्था गुजरात के जामनगर लौट आया।

बता दें कि तूफान में फंसने की खबर से जामनगर के इन यात्रियों के परिजन बड़ी चिंता में थे। जामनगर के प्रशासन को जब इस संबंध में सूचना मिली तो राज्य सरकार और जिलाधीश कार्यालय ने साथ-मिलकर यात्रियों के समूह से संपर्क साधा और उन्हें सकुशल घर लौटाने की कवायद शुरू की।

सोमवार को ५० यात्रियों को बस के द्वारा जामनगर लाया गया। जामनगर पहुंचने पर यात्रियों के चेहरों पर घर पहुंचने का सुकून था, तो उनके परिजनों के चेहरों पर अपनों को सकुशल पाकर संतोष का भाव। परिजनों ने फूलों से अपनों का स्वागत किया। यात्रियों ने फोनी तूफान में फंसने के किस्से और अनुभव भी बांटे। जो यात्री अभी भी लौटे नहीं हैं, उन्हें ट्रेन और बसों से लाने की व्यवस्था की जा रही है।