इन शहरों में विकास कार्यों के लिए विजय रुपाणी द्वारा 596 करोड़ का आवंटन


(Photo Credit: livemint.com)

मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने राज्य की 18 नगरपालिकाओं और राजकोट सूरत, वडोदरा, भावनगर और जूनागढ़ और गांधीनगर महानगरपालिकाओं को जलापूर्ति, भूमिगत जल निकासी योजना, रेलवे ओवरब्रिज, अंडरब्रिज, ट्रैफिक सिग्नल, नगरपालिका, सड़क और स्ट्रीट लाइट के विकास कार्य के लिए 596.34 करोड़ रुपये के अनुदान को मंजूरी दी है। इसके तहत जलापूर्ति कार्यों के लिए रु 153.11 करोड़, रेलवे ओवरब्रिज-अनेडरब्रिज कार्यों के लिए रु 62.23 करोड़, भूमिगत जल निकासी योजना के लिए रु 344.36 करोड़, विशेष पहचान कार्यों और सौंदर्यीकरण कार्यों के लिए रु 8.56 करोड़, सड़क रास्ते और स्ट्रीटलाइट के कार्यों के लिए रु 8.58 करोड़, साथ ही ट्रैफिक सिग्नल और इन्टीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर के लिए रु 19.50 करोड़ आवंटित किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों के लिए यह राशि मंजूर की है, उसके लिए भायावदर नगरपालिका को रु 1.29 करोड़, जमरावल नगरपालिका को रु 4.88 करोड़ और कडोदरा नगरपालिका को कीमत रु 11.68 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। सूरत महानगरपालिका को जलापूर्ति कर्यों के लिए रु 62.26 करोड़ तथा वडोदरा महानगर में 50 MLD के नए जल उपचार संयंत्र के लिए 61 करोड़ और हाल ही में वडोदरा में शामिल पुराने क्षेत्रों में पीने के पानी की सुविधा के कार्यों के लिए रु 12 करोड़ मिलेंगे।

नगरों और महानगरों में ट्राफिक और वाहनों के यातायात नियंत्रण के लिए रेलवे ओवरब्रिज और अंडरब्रिज के कार्यों के लिए भावनगर महानगरपालिका को रेलवे अन्डरब्रिज के लिए रु 6.83 करोड़ जिसके बाद जूनागढ़ महानगरपालिका को रेलवे ओवरब्रिज के लिए रु 31.40 करोड़ आवंटित किए गए हैं। हिम्मतनगर, तालोद, विजयपुर और वापी, इन सभी नगर पालिकाओं को रेलवे अन्डरब्रिज के लिए रु 6 करोड़ मंजूर किए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने जूनागढ़ महानगरपालिका के ट्रैफिक सिग्नल के लिए 1.5 करोड़ जिसके अलावा गांधीनगर महानगरपालिका में इंटरनेशनल लेवल इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर और फायर ब्रिगेड के नवीनीकरण के लिए 18 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं।

भूमिगत सीवेज कार्यों के लिए कुल रुपये 344.36 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं जिसमें वड़ोदरा के बाहरी क्षेत्र मेंभूमिगत जल निकासी कार्यों के लिए 15 करोड़, बोटाद नगरपालिका को रु 43.32 करोड़, गांधीधाम नगरपालिका को रु 99.62 करोड़, मांगरोल नगरपालिका को रु 88.74 करोड़ और मोडासा नगरपालिका को रु 64.75 करोड़ और राजपीपला नगरपालिका को रु 17.56 करोड़ आवंटित किए जाएंगे। राज्य की नगरपालिकाओं को संबंधित नगर के विशेष पहचान के कामों के लिए जो धनराशि मंजूर की गई है उसमें, बायड नगरपालिका को टाउनहॉल बनाने के लिए रु 1.98 करोड़, दामनगर नगरपालिका को तलाब ब्यूटिफिकेशन के लिए रु 1.98 करोड़ रु। पादरा को तलाब ब्यूटिफिकेशन के लिए रु 3.10 करोड़ और मनसा नगरपालिका को रु 1.50 करोड़ मंजूर किए गए हैं। खानगी सोसाइटी में जनभागीदारी कार्यों जैसे जुनागढ़ में सड़क और स्ट्रीट लाइट के 37 कार्यों के लिए रु 5.76 करोड़ तथा भावनगर माहनगरपालिका को रोड़-रास्तेके 59 कार्यों के लिए रु 1.75 करोड़ जबकि सावली नगरपालिका को 5 कार्यों के लिए रु 1.07 करोड़ आवंटित किए जाएंगे।

राज्य के शहरी क्षेत्रों के समग्र विकास कार्यों के माध्यम से जनसुखाकारी की वृद्धी के नाम के साथमुख्यमंत्री ने यह रु 596.34 करोड़ रुपये का अनुदान आवंटित किया गया है।