जुनागढ़ का स्वामीनारायण स्वर्ण मंदिर एक बार फिर आया चर्चा में


(Photo Credit : baps.org)

स्वामीनारायण मंदिर अक्सर चर्चाओं में रहता है और उनमें से ज्यादातर तो विवादों के कारण ही चर्चा में रहता है। कभी महिलाओं के साथ बलात्कार के कारण तो कभी किसी व्यक्ती की मृत्यु जैसी घटनाओं के कारण मंदिर अक्सर चर्चा में रहता है। अब नए मामले के कारण स्वामीनारायण मंदिर फिर चर्चा में आया है। मंदिर में शॉर्ट ड्रेस पहनके प्रवेश पर प्रतिबंध का बोर्ड लगाने की वजह से जूनागढ़ में स्थित स्वामीनारायण स्वर्ण मंदिर फिर से चर्चा में आ गया है।

(Photo Credit : youtube.com)

प्राप्त जानकारी के अनुसार भक्त नरसिंह मेहता के शहर के रूप में प्रख्यात जूनागढ़ को संस्कारी शहर के रूप में भी जाना जाता है। गुजरात के गौरव समान गिरनार पर्वत भी जूनागढ़ में स्थित है और इस गिरनार पर्वत को गुजरात के लाखों लोगों के महत्व का प्रतीक माना जाता है। जूनागढ़ में ही कई धार्मिक स्थल हैं। जूनागढ़ का स्वामिनारायण मुख्य स्वर्ण मंदिर भी लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र है। इस मंदिर को स्वामीनारायण के मुख्य स्वर्ण मंदिर के रूप में जाना जाता है, क्योंकि इस मंदिर की पाँच शिखरों में से तीन शिखर स्वर्ण से ढके हुए हैं। यह मंदिर 191 वर्ष से अधिक पुराना है। मंदिर में प्रवेश करने वाले लोगों को हिंदू संस्कृति की समझ पाने के लिए निर्देश पढ़ना पड़ता है।

(Photo Credit : khabarche.com)

मंदिर के बाहर प्रवेश द्वार पर बोर्डों पर छह अलग-अलग प्रकार के निर्देश लिखे गए हैं:

  •  चेहरा ढककर अथवा छोटे वस्त्र पहनकर कोई प्रवेश नहीं करे
  • सुबह 4 से 10 बजे सेवाएं खुली रहेंगी, फिर हेड ऑफिस के निर्देशों के बिना दरवाजा नहीं खोला जाएगा।
  • शराबी व्यक्ति को प्रवेश करने के लिए सख्त मना है
  • सुरक्षा की ओर से प्राप्त किसी भी निर्देश को स्वीकार करें
  • वाहन संख्या रजिस्टर में लिखने के लिए सहयोग दें
  • ड्रग्स या विस्फोटक सामानों के साथ प्रवेश निशेध है

इस विषय में, संतों का कहना है कि यह भारतीय संस्कृति में सदाचार, मर्यादा, सज्जनता के अच्छे गुण हैं। विशेष रूप से बहन और बेटियों को विशेष सीमा का पालन करना चाहिए। छोटे कपड़े पहनने वाला व्यक्ति पिता, समाज और मंदिर के संतों की गरिमा को खंडिट करता है। छोटी पोशाक भारतीय संस्कृति के खिलाफ है। हमें विकास करना है, न कि अंधानुकरण। भारत को भारत ही रहने दो अमेरिका, ब्रिटेन, या ऑस्ट्रेलिया बनाने की कोशिश मत करो।