सोलर रूफटॉप प्लांट की स्थापना में गुजरात देशभर में अव्वल


(PC : dnaindia.com)

देश के कुल सोलर रूफटॉप प्लांट का 64 फीसदी अकेले गुजरात में
2 मार्च, 2020 तक देश में 79950 के मुकाबले गुजरात में 50915 सोलर रूफटॉप

अहमदाबाद (ईएमएस)| गुजरात पूरे देश में सोलर रूफटॉप प्लांट स्थापित करने के मामले में अव्वल रहा है। 2 मार्च 2020 तक राज्य में 177.67 मेगावाट क्षमता के 50915 घरेलू सोलर रूफटॉप सिस्टम लगाए जा चुके हैं। संसद में प्रश्न काल के दौरान केंद्रीय नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री आर.के. सिंह ने यह जानकारी दी। सिंह ने कहा कि पूरे देश में सोलर रूफटॉप योजना के अंतर्गत जिन घरेलू उपभोक्ताओं को घर की छतों पर सोलर पैनल लगाने के लिए सब्सिडी का लाभ दिया गया है, उसमें से 64 फीसदी अर्थात दो तिहाई हिस्सा अकेले गुजरात का है।

राज्य मंत्री ने कहा कि देश भर में सोलर रूफटॉप के लिए 79950 घरेलू उपभोक्ताओं ने इस अवधि के दौरान कुल 322 मेगावाट क्षमता के सोलर रूफटॉप प्लांट केंद्र की वित्तीय सहायता हासिल कर स्थापित किए हैं। गुजरात के बाद 5531 सोलर रूफटॉप सिस्टम की स्थापना महाराष्ट्र में हुई है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के नेतृत्व में राज्य सरकार सौर ऊर्जा के अधिकतम उत्पादन और खपत के माध्यम से गुजरात को हरित और स्वच्छ ऊर्जा का हब बनाने को प्रतिबद्ध है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत में प्रदूषण रहित स्वच्छ ऊर्जा के अधिकाधिक उपयोग के संकल्प के साथ देश में वर्ष 2022 तक 1.75 लाख मेगावाट सौर ऊर्जा के उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया है। प्रधानमंत्री के इस संकल्प को साकार करने में गुजरात देश का नेतृत्व करने को तैयार है। राज्य में घरेलू उपभोग के लिए भी लोगों को सूर्य ऊर्जा का उपयोग करने की दिशा में प्रेरित करने के लिए मुख्यमंत्री ने सोलर रूफटॉप योजना- ‘सूर्य गुजरात’ (सूर्य ऊर्जा रूफटॉप योजना-गुजरात) घोषित कर 2022 तक 8 लाख रिहायशी बिजली उपभोक्ताओं को इस योजना में शामिल करने का लक्ष्य रखा है।

इस योजना के तहत सब्सिडी की रकम में भी बढ़ोतरी की गई है। अब 3 किलोवाट तक की क्षमता वाले प्लांट पर 40 फीसदी और 3 किलोवाट से अधिक और 10 किलोवाट तक की क्षमता वाले सोलर प्लांट पर 20 फीसदी की सब्सिडी सरकार प्रदान करती है। राज्य सरकार ने इसके लिए 2020-21 के हालिया बजट में भी 912 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

खास बात यह है कि सोलर रूफटॉप सिस्टम लगाने के बाद पैदा हुई और घरेलू इस्तेमाल के बाद बची हुई अतिरिक्त बिजली को संबंधित विद्युत वितरण कंपनी 2.25 रुपए प्रति यूनिट की दर से खरीदती भी है।

गुजरात ऊर्जा विकास निगम और अन्य विद्युत वितरण कंपनियों की सक्रियता के चलते ‘सूर्य गुजरात’ योजना के तहत सोलर रूफटॉप के लिए 1.18 लाख से अधिक आवेदन ऑनलाइन पोर्टल पर दर्ज हुए हैं।