चुनाव के माहौल में गुजरात में पकड़ा गया ये सब


(Photo Credit : iflscience.com)

2019 में लोकसभा के चुनाव घोषणापत्र की घोषणा के बाद, अहमदाबाद और उसके आसपास 1100 वाहनों की जाँच स्टेटिस्टिक सर्वेलैंस और विभिन्न जांच एजेंसियों द्वारा की गई। 1.55 करोड़ की बेनामी नकद राशि जब्त की गई। महत्व क‌ि बात यह है कि चुनाव की अधिसूचना के बाद गुजरात में शराबबंदी के बावजूद पुलिस और चुनाव आयोग की कार्यवाही के दौरान भारी मात्रा में शराब भी जब्त की गई है।

अब तक, अहमदाबाद जिला अधिकारी को अपराध के उल्लंघन की आठ शिकायतें मिली हैं और चुनाव आयोग द्वारा जारी किए गए cVIGIL app से आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की 68 शिकायतें हैं, इन सभी शिकायतों का चुनाव आयोग ने निपटारा कर दिया है।

गुजरात में चुनावों की घोषणा के बाद, पुलिस और चुनाव आयोग और अलग-अलग जांच एजेंसियों की जांच में गुजरात से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवाओं को भी जब्त किया गया है। गुजरात से लोकसभा चुनाव की अधिसूचना के बाद चुनाव आयोग द्वारा 111 किलोग्राम ड्रग्स जब्त कर लिया गया है। इन दवाओं का अनुमानित मूल्य 500 करोड़ से अधिक है। इसके अलावा 2.8 लाख लीटर शराब भी जब्त की गई है। चुनाव आयोग ने सभी राज्यों से 511.84 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की है।

उल्लेखनीय है कि गुजरात चुनाव में सबसे चिंताजनक स्थिति है। क्योंकि, गुजरात में ड्रग्स और शराब पर प्रतिबंध है। इसके बावजूद गुजरात में 2.8 लाख लीटर शराब के साथ 511 किलोग्राम ड्रग्स पकड़ा गया है। चुनाव के दौरान देश के किसी भी राज्य से कभी इतनी भारी मात्रा में ड्रग्स नहीं पकड़ी गई है।