रद्द हुई द्वारका विधानसभा सीट को लेकर भाजपा के लिये आई अच्छी खबर


(PC : amarujala.com)

द्वारका के विधायक पबुभा माणेक को विधायक पद से हटाने संबंधी गुजरात हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई अर्जी स्वीकार कर ली गई है। इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट में आगामी २२ अप्रेल को सुनवाई होगी। गुजरात हाईकोर्ट द्वारा विधायक के रूप में अयोग्य घोषित हो चुके पबुभा माणेक ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

उल्लेखनीय है कि गुजरात हाईकोर्ट ने इससे पहले द्वारका विधानसभा सीट का चुनाव रद्द कर पुनः चुनाव करने के आदेश दिये थे। लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा के लिये यह एक झटके से कम न था। कांग्रेस के उम्मीदवार मेरामण गोरिया ने गुजरात हाईकोर्ट में याचिका दायर करके कहा था कि विधानसभा चुनाव के दौरान पबुभा माणेक ने जो उम्मीदवारी फोर्म भरा था, उसमें भूल थी। इसी को मान्य रखकर हाईकोर्ट ने चुनाव रद्द कर दिया।

२०१७ के चुनाव में पबुभा माणेक को ७३४३१ वोट मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्वंदी कांग्रेस के प्रत्याशी आहिर मेरामण मारखी को ६७६९२ वोट मिले थे। कांग्रेस के उम्मीदवार की ५७३९ वोट से हार हुई थी। अब यदि यहां फिर से चुनाव होते हैं तो कांटे की टक्कर हो सकती है। यद्यपि सारा दारोमदार सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर होगा।