पटना का पाटन होना NEET के विद्यार्थियों के लिये बन गया सिरदर्द


(प्रतिकात्मक तस्वीर)

नीट की परीक्षा में ऑनलाईन फोर्म भरते वक्त पटना की जगह पाटन चुन लिया और फिर 1600 किमी दूर परीक्षा देने आना पड़ा

५ मई को NEET की परीक्षा होनी है। एक केंद्र गुजरात के पाटन शहर में है। यहां राज्य के कई विद्यार्थियों के अलावा सुदूर बिहार राज्य के विद्यार्थी भी परीक्षा देने पहुंचे हैं। अब आप सोचेंगे, ठेठ बिहार के पटना से १६०० किमी दूर गुजरात के पाटन परीक्षा देने विद्यार्थी क्यों आए? इसके पीछे का कारण था छोटी सी मानवीय भूल।

दरअसल हुआ यह कि पटना के छात्र नीट की परीक्षा के लिये ऑनलाईन आवेदन कर रहे थे। उन्होंने जिस साईबर केफे में जाकर अपना ऑनलाईन फोर्म भरा, उसमें वहां के कंप्यूटर ऑपरेटर की मदद ली। कंप्यूटर ऑपरेटर में ध्यान नहीं दिया और फोर्म भरते वक्त शहर का नाम पटना के बजाए पाटन कर दिया। मिलती-जुलती अंग्रेजी में स्पेलिंग और एक ही अक्षर ’पी’ से शहर का नाम शुरू होने के कारण यह गलती हो गई।
जब परीक्षा में बैठने के लिये आवश्यक रसीद मिली तो विद्यार्थी भौचक्के रह गये। उन्हें उनकी गलती का ऐहसास हो गया। उन्होंने नीट के सहायता-कक्ष पर मदद भी मांगी लेकिन समस्या का निदान न होने पर आखिरकार ऐसे दस विद्यार्थी परीक्षा देने बिहार से गुजरात पहुंचे। चुंकि करियर और भविष्य का प्रश्न था, इसलिये और कोई विकल्प ही नहीं रहा।

बता दें कि ऐसी ही भूल पिछले वर्ष भी हुई थी।